विश्व की प्रसिद्ध स्पोर्ट्स वियर कंपनी Nike ने दुनिया का पहला ‘सेल्फ लेसिंग शूज़’ लॉन्च किया है. यानि अब लेस बांधने की टेंशन से छुटकारा. हैरान होने की ज़रूरत नहीं है, क्योंकि Nike ने इस बात का ऐलान पिछले साल ही कर दिया था. Nike ने इस तरह के शूज़ बना कर कई लोगों का सपना सच कर दिया है. एक दौर ऐसा था, जब हम स्मार्ट फ़ोन के बारे में सोच भी नहीं सकते थे, लेकिन आज बाज़ार में कई प्रकार के स्मार्ट फ़ोन उपलब्ध हैं. खैर, इस तरह के जूते के आने से लोग हैरान तो ज़रूर हैं, पर हमें इस बात पर खुश होना चाहिए कि आज तकनीक कहां से कहां पहुंच गई है.

Tinker Hatfield का कहना है कि ‘हम एथलीट्स को सबसे बेहतर जानते हैं, इसलिए हम उनकी सभी ज़रुरतों का ध्यान में रखते हुए उन चीज़ों को मुमकिन बना देते हैं, जिनके बारे में दूसरों ने सोचना भी शुरू नहीं किया है’.

Nilke का Hyper Adapt 1.0 शूज़ अब लॉन्च हो गया है. इसकी खासियत ये है कि आपको दूसरे जूतों की तरह इनकी लेस के खुलने का डर नहीं रहेगा और न ही उन्हें बांधने के लिए मेहनत करनी पड़ेगी. जी हां, ये जूते आपके पैरों के आकार को देखते हुए खुद-ब-खुद बंध जाएंगे. बेहतर रिसर्च, डिजीटल और मैकेनिकल इंजीनियरिंग के चलते ही इस उत्पाद को बनाना संभव हो सका.

इन जूतों की तकनीक इतनी सरल है कि इन्हें एक बच्चा भी इस्तेमाल कर सकता है. इन जूतों को पहनने के बाद जब आपकी एड़ी, जूते में लगे सेंसर को हिट करेगी तो इसमें लगा सिस्टम अपने आप आपके पैर को जूते में कस देगा. इस सेंसर के आविष्कार और प्रोजेक्ट के टैकनिकल लीडर Tiffany Beers का कहना है कि ‘इसमें दो बटन दिए हैं, जिनकी मदद से आप सुविधा अनुसार जूते को टाइट और लूज़ कर सकते हैं. आप जूते को तब-तक कस सकते हैं जब तक आप उससे संतुष्ट न हों’.

Source: nike