'Indian Idol' सिंगिंग रियलिटी शोज़ का वो प्लेटफ़ॉर्म है, जिसने देश को अब तक कई बड़े-बड़े सिंगर्स दिए हैं. सोनी टीवी पर प्रसारित होने वाले इस रियलिटी शो में देश और दुनिया के अलग-अलग कोने से तमाम प्रतिभागी हिस्सा लेकर सिंगिंग में अपनी किस्मत अाज़माने आते हैं. ऑडिशन के समय हमें तरह-तरह के प्रतिभागी देखने को मिलते हैं. इनमें से कई अपनी क़ाबिलियत से Judges का दिल जीत लेते हैं, तो कई दूसरों को हंसा कर और गुदगुदा कर वापस लौट जाते हैं. यही नहीं, इस शो में कई दिव्यांग प्रतिभागी भी आते हैं, जिनमें टैंलेंट कूट-कूट कर भरा होता है.

Source : iwmbuzz

नेहा कक्कड़, अरिजीत सिंह जैसे तमाम सुपरहिट बॉलीवुड सिंगर्स इस शो की ही देन हैं. इंडियन आइडल के बारे में हम उतना ही जानते हैं, जितना टीवी पर देखते और सुनते हैं. है न? पर ज़रुरी नहीं कि सच्चाई हमेशा वही हो, जो दिखाई या सुनाई पड़े. क्योंकि निशांत कौशिक नामक एक शख़्स ने इस शो को लेकर सोशल मीडिया पर कई चौंका देने वाले ख़ुलासे किये हैं. फिलहाल, वो Melbourne में रहते हैं और 2012 में Indian Idol का ऑडिशन देने मुंबई गये थे.

निशांत ने अपने ट्टिटर अकाउंट पर पोस्ट करते हुए लिखा, 2012 मई में मुंबई में उस जगह पहुंचा जहां शो के लिए ऑडिशन हो रहा था. बाकियों की तरह मैं भी 2 किलोमीटर लंबी लाइन में खड़ा हो गया. सुबह के करीब 7 बज रहे थे, लेकिन कुछ लोग ऐसे थे जो सुबह 5 बजे से ही लाइन लगा कर खड़े हुए थे. यही नहीं, इनमें से बहुत से Contestant ऐसे थे, जो रात में वही कैंप लगा कर सो गए थे. हांलाकि, अब तक ये कहा जाता था कि पहले आओ और पहले ऑडिशन दो ये ख़बर बिल्कुल ग़लत है. सुबह से खड़े लोगों के लिए दिन में 1 बजे गेट खोला गया.

हैरान करने वाली बात ये है कि वेन्यू पर Contestant के खाने-पीने और शौचालय की कोई सुविधा मौजूद नहीं थी. मतलब मुझे समझ नहीं आ रहा था कि इतना कुछ झेलने के बाद वहां आए लोगों में गाना गाने के लिए एनर्जी कैसे बची हुई थी. कुछ लोगों की मम्मियां हिम्मत बन कर उनके साथ खड़ी थी. यही नहीं, जब हमने क्रू मेंबर से कुछ खाने की डिमांड करी, तो उन्होंने अभ्रद भाषा में जवाब देते हुए कहा ये सब अपने रिस्क पर करो, क्योंकि ऑडिशन किसी भी वक़्त शुरू हो सकता है. इसके बाद हम ज़िम्मेदार नहीं होंगे.

इसके अलावा अगर आप ऑडिशन में रिटेक देने से मना कर देते हैं, तो क्रू मेंबर आपको थप्पड़ तक जड़ देते हैं साथ ही ऑडिशन से बाहर निकालने की धमकी भी दी जाती है. ख़ैर, रात के 8 बजे चुके थे और अब तक हमारा कोई ऑडिशन नहीं हुआ था. अब वहां मौजूद लोगों के सब्र का बांध टूट चुका था, उन्होंने ऑडिशन लेने की डिमांड की. इसके बाद हमें Basketball Court में ले जाया गया, जहां हमें कहा गया कि आवाज़ चेक कराने के लिए आपको We LOVE INDIAN IDOL! कहना है. इतने सारे नाटक से तंग आ चुके एक प्रतिभागी ने गुस्साते हुए कहा कि हमें दिखाओ कहां ऑडिशन हो रहे हैं और कहां हैं जज. Contestant की इस बात पर एक क्रू मेंबर को इतना गुस्सा आया कि उसने हज़ारों लोगों के सामने उसे चांटा मारा दिया.

काफ़ी कुछ देखने के बाद आधी रात में हमारा ऑडिशन लिया गया. इस शो में दिव्यांगो के साथ तक अच्छा व्यवहार नहीं किया जाता. 'Indian Idol' को लेकर ये बात कितनी सही और कितनी ग़लत, इस पर फ़ैसला करना जल्दीबाज़ी है. पर हां निशांत के इस पोस्ट को झूठलाया भी नहीं जा सकता है. निशांत के बाकी ट्वीट्स देखने के लिए आप उसके ट्टिटर अकाउंट पर क्लिक कर सकते हैं.