पिछले एक दशक पर अगर गौर करें, तो भारत में डिज़िटाइज़ेशन बढ़ा है और इसका बुरा असर बच्चों की सेहत पर दिख रहा है. पिछले काफ़ी सालों से बच्चे खेलने के लिए प्ले ग्राउंड के बदले प्ले स्टेशन चुन रहे हैं. Outdoor Games तो शायद सिर्फ़ Physical Education की किताबों में ही देखने को मिलते हैं. कुछ वीडियो गेम्स ने, तो कुछ सोशल ​मीडिया ने बच्चों को अपने आकर्षण में लपेट रखा है. इसके अलावा जंक फ़ूड ने और सोने पे सु​हागा का काम किया है. इन सबका बुरा असर बच्चों के बढ़े हुए वज़न में देखने को मिलता है.

Source- Foodnetwork

बच्चों का औसत से ज़्यादा वज़न आज एक बड़ी समस्या है और इसके समाधान के लिए अब बच्चों के लिए खास Gym भी खुल चुके हैं. ये Gym कुछ इस तरह डिज़ाइन किए गए हैं कि बच्चे इसमें मौज के साथ एक्सरसाइज़ करें. ये नॉर्मल Gym से ज़्यादा अलग नहीं होते, इसमें बस सारे उपकरण बच्चों के हिसाब से होते हैं. बच्चों को आकर्षित करने के लिए ये काफ़ी रंगीन होते हैं.

Source- Nutriencesaltlake
Source- TOI

The Little Gym की निर्देशक Anandita Himatsingka ने TOI से बताया कि-

ये बच्चे Gym के लिए काफ़ी उत्साहित रहते हैं. कई बच्चों के मां-बाप बताते हैं कि बच्चे जैसे ही सो कर उठते हैं, वो Gymnastics Session में आने के लिए ज़िद करने लगते हैं.
Source- TOI

Nutrience Kids Fitness Studio ने ScoopWhoop से बताया कि-

बच्चों के इस Gym में सिर्फ़ फ़िटनेस या सेहत का ख़्याल ही नहीं रखा जाता, बल्कि उन्हें Physical Activities के लिए भी प्रेरित किया जाता है. किसी को क्रिकेट के लिए तो किसी को Athletic Activities के लिए कहा जाता है. जो लड़कियां स्कूल में गेम्स नहीं खेलतीं, वो भी यहां की Activities में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेती हैं.
Source- TOI

शारीरिक एक्सरसाइज के अलावा यहां बच्चों के खान-पान पर भी खास ध्यान दिया जाता है. बच्चों का बढ़ता पेट कई मां-बाप की चिंता का कारण है.

Source- Nuriencesaltlake

Gym का माहौल किसी हॉबी क्लास जैसा दिखता है, जहां बच्चे मौज भी करते हैं और नए दोस्त भी बनाते हैं. यहां एक्सरसाइज़ के अलावा बच्चों को योगा भी सिखाया जाता है.

Source- TOI