आजकल देश में छोटी सी बात का बड़ा मुद्दा बनाने का सीज़न आ चुका है. हर छोटी बात पर हम भड़क जाते हैं या तो Offend हो जाते हैं.

हाल ही में महशूर गायक सोनू निगम ने एक ट्वीट कर, घर के पड़ोस में मस्जिद से आनी वाली 'अज़ान' की ऊंची आवाज़ों पर आपत्ति जताई थी. हालांकि उन्होंने ये बात बाक़ी धर्मों के लिए भी कही थी, लेकिन उनके इस बयान ने तूल पकड़ लिया. सोनू के इस ट्वीट के बाद सोशल मीडिया में काफ़ी विवाद हुआ था. मौलवी Syed Sha Atef Ali Al Quaderi ने सोनू के खिलाफ़ फ़तवा जारी करते हुए बयान दिया था, कि जो भी व्यक्ति सोनू निगम का सिर गंजा कर देगा, वह उसे दस लाख रुपए देंगे.जिसके जवाब में सोनू ने उन्हें पैसे तैयार रखने को कहा था.

सोनू ने मौलवी को करारा जवाब देते हुए, अपना सिर मुंडवा लिया था. अज़ान वाले बयान पर कुछ लोगों ने सोनू की आलोचना की, तो कुछ बॉलीवुड हस्तियां सोनू के समर्थन में सामने आई.

हलांकि सोनू ने एक बयान जारी कर ये साफ़ कर दिया था, उन्हें अज़ान से दिक्कत नहीं है, शोर करने वाले लाउडस्पीकर से है.

लेकिन लगता है ये मामला इतनी असानी से थमना वाला नहीं है. नेशनल फ़्यूचर पार्टी के राष्टीय अल्पसंख्यक समाज के अध्यक्ष रिज़वान मालिक ने अज़ान को गुंडा गर्दी बोलने वाले सोनू निगम की गर्दन कलम करने वाले को 51 करोड़ रुपये का ईनाम देने की घोषणा की है. इतना ही नहीं, ईनाम रखने वाले ने अपना नबंर भी दिया है.

इस मामले को जितनी जल्दी ख़त्म होना चाहिए था, ये उतना ज़्यादा तूल पकड़ रहा है. अब देखना है कि लोग इस आग में और कितना घी डालते हैं.