एक पाकिस्तानी सांसद का दावा है कि 2012 में नोबल पुरुस्कार विजेता मलाला युसुफ़ज़ई पर हुआ ​हमला एक सोचा समझा प्लैन था.

Source- Pinterest

सांसद Mussarat Ahmadzeb जो पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी से सांसद हैं, उनका कहना है कि मलाला का बीबीसी को लिखना और बाद में उस पर हमला होना, सब पहले से प्लैन हो चुका था. Mussarat ने दक्षिणपंथी उर्दू अखबार 'उम्मात' को एक इंटरव्यू में ये जानकारी थी.

Source- Dawn

Mussarat का कहना है कि उन्हें शक है कि गोली मलाला के सिर में घुसी थी. मलाला को सिर में गोली लगी थी, पर स्वैट में हुए सीटी स्कैन में कोई गोली नहीं पाई गई थी. बाद में पेशावर के CMH यानि Combined Military Hospital में उसके सिर में गोली पाई गई थी.

Mussarat ने बाद में ट्वीट किया कि मलाला का ​इलाज करने वाले डॉक्टरों को सरकार की तरफ़ से घर बनाने के लिए ज़मीन दी गई थी.

Mussarat का दावा है कि मलाला पढ़-लिख नहीं सकती, पर उसे ऐसा दिखाया गया है कि वो गुल मकाई के नाम से बीबीसी में कहानी लिखती थी.

उसने इल्ज़ाम लगाया है कि एक अमेरिकी मलाला के घर तीन महीने तक रहा और उसे इस पूरे प्लैन के लिए तैयार किया.

Source- Dawn