जब वित्त मंत्री अरुण जेटली रफाल विमान मामले पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के सवालों का जवाब दे रहे थे तभी कांग्रेस की ओर से कुछ ऐसा हुआ जिससे संसद की गरिमा को धक्का लगा.

बुधवार को संसद के दोनों सदनों में गहमा-गहमी का माहौल था. राहुल गांधी ने अपने भाषण के दौरान कुछ गंभीर सवाल उठाए थे. वित्तमंत्री अपने भाषण में उन सवालों का जवाब दे रहे थें तभी, अमृतसर से कांग्रेस सांसद गुरमित सिंह औजला ने सत्ता पक्ष की ओर कागज़ की हवाई जहाज़ फेंकी.

स्पीकर सुमित्रा महाजन ने कांग्रेस को सांसद को फटकार लगाई और कुर्सी से खड़ी होकर कहा, 'हवाई जहाज़ बचपन में बनाई नहीं! अभी बच्चे हो या बड़े हो?... क्या उड़ा रहे हो हवाई जहाज़!'

इस पर भी कांग्रेस के सांसद नहीं माने और सत्ता पक्ष की ओर कागज़ फेकते रहें, इस वजह से सुमित्रा महाजन ने सदन की कार्यवाही दोपहर साढ़े तीन बजे तक स्थगित कर दी.

संसद भवन में पहले भी ऐसा बहुत कुछ हुआ है जिससे देश का मान गिरता है, एक भारतीय के तौर पर हमे अपने लोकतंत्र और अपने संसद पर गर्व है लेकिन संसद भवन में होनी वाली ऐसी हरकते हमे शर्मिंदा करती हैं.