साइंस हमेशा से ही ऐसे चमत्कार करता रहता है, जो बीमारियों से जूझ रहे लोगों के लिए वरदान साबित होते हैं. अब साइंस ने एक ऐसी तकनीक खोज निकाली है, जिसकी मदद से लकवाग्रस्त मरीज़ भी बात कर पाएंगे.

लकवा एक ऐसी बीमारी है, जो मरीज़ को उसी के शरीर में कैद कर देती है, वो अपनी भावनाएं बताने में असमर्थ हो जाता है. Brain Computer Interface (BCI) नाम की इस तकनीक के ज़रिये, अब वो भी अपनी बात कह पाएंगे. BCI मरीज के दिमाग को पढ़ कर उसकी बात बता सकता है. रक्त-प्रवाह के ज़रिये भी BCI मरीज के दिमाग को पढ़ता है.

BCI द्वारा बताई गई बातें 70 प्रतिशत सही होती हैं. BCI के ज़रिये एक बहुत अच्छी बात भी पता चली है कि लकवे के बावजूद, मरीज़ों में जीने की इच्छा प्रबल होती है. वो जीना चाहते हैं और अपनी बीमारी से लड़ना चाहते हैं.

Source: Distractify