जिस घटना के बारे में अब आप पढ़ने वाले हैं, उसे पढ़ने से पहले अपने दिल को मज़बूत कर लीजिए, क्योंकि हो सकता है इससे आपको लोगों की मानसिकता और अंधविश्वास में होने की जकड़ महसूस हो.

एक परिवार, जो पैसों की तंगी लगातार झेल रहा था, पांच किलो सोने के लालच में अपनी ही बेटी का दान कर देता है. फिर उस मासूम के साथ हुआ बलात्कार और इस घिनौने काम के बाद उसे उतार दिया गया मौत के घाट.

Representational Image/Source: indiatoday

घटना उत्तर प्रदेश के कन्नौज जिले की है. लड़की के पिता महावीर प्रसाद ने पुलिस को बताया कि उनके जानने वाले शर्मा ने उससे कहा कि अगर वो अपनी बेटी को भगवान के आगे समर्पित कर देगा तो ठीक एक घंटे बाद उसे पांच किलो सोना प्राप्त होगा. लड़की का परिवार पैसे की तंगी से गुज़र ही रहा था और वो इस बात को मान गए.

लड़की के साथ उसके माता-पिता भी रात को ही पिपरिया और बदौसा के बीच बने अन्नपूर्णा देवी के मंदिर में पहुंच गए थे, जहां उस 15 साल की मासूम बच्ची के सारे कपड़े उतार दिए गए. उसके साथ शर्मा नाम के शख़्स ने बलात्कार किया और उसका गला काट कर खून पूजा के लिए चढ़ा दिया. पूजा समाप्त होने के बाद उस लड़की के शरीर को वहीं एक मैदान में दफ़ना दिया गया.

Representational Image/Source: siasat

इन सब के बावजूद माता-पिता को कुछ नहीं मिला और अंधविश्वास के शिकार माता-पिता पुलिस में शिकायत ले कर पहुंचे. पुलिस ने जांच के बाद लड़की की बॉडी हासिल कर ली है और माता-पिता को हिरासत में ले लिया गया है.

Representational Feature Image/Source: indiatoday