'म्हारी छोरियां छोरों से कम हैं के' आमिर खान की फ़िल्म दंगल ये डायलॉग तो आपको याद ही होगा. भाई आजकल की लड़कियां किसी भी मामले में लड़कों से कम नहीं हैं. इतना ही नहीं, आज की युवा पीढ़ी सादियों से चले आ रहे दक़ियानूसी रीति-रिवाजों को बदलती नज़र आ रही है.

ताज़ा मामला बिहार के पटना के दानापुर का है, जहां बैंड, बाजा और बारातियों के साथ एक दुल्हन अपने पिया जी के आंगन पहुंची. ये अनोखी शादी लोगों के बीच चर्चा का विषय बनी हुई है. दरअसल, स्नेहा मुंबई में बतौर असिस्टेंट बैंक मैनेजर काम करती हैं और वो नेवी में लेफ़्टिनेंट कमांडर अनिल यादव से शादी करने के लिए, पटना के मनेर से बग्घी पर सवार होकर दानापुर कैंट पहुंची. बताया जा रहा है कि अनिल यादव मूल रूप से मधुबनी के रहने वाले हैं और वो विशाखापट्नम में पोस्टेड हैं.

शुक्रवार को हुई ये शादी कई मामलों में बेहद ख़ास थी. इस शादी में न दहेज का बंधन था और न ही परंपरा की बेड़ियां. परिवार से लेकर दोस्त तक सभी इस शादी से काफ़ी ख़ुश थे.

Source : dailyhunt

ख़बरों के अनुसार, सगाई के वक़्त ही ये बात तय हो गई थी कि दुल्हन बारात लेकर दुल्हे के दरवाज़े पर आएगी. शादी में मौजूद लोगों ने बॉलीवुड गानों पर जमकर डांस किया और जैसे ही स्नेहा बारात लेकर अनिल के सामने पहुंची वैसे ही वो उसका हाथ पकड़ कर मंच पर ले गए. इसके बाद दोनों ने एक-दूसरे को वरमाला पहनाकर हमेशा साथ रहने की कसमें खाईं.

ख़ुशी हुई ये जानकर कि समय के साथ-साथ लोगों की सोच भी बदल रही है. इस शादी की सबसे अच्छी बात ये कि दुल्हन कुछ नया करने का हौसला, तो वहीं दूसरी तरफ़ सभी लोगों ने ख़ुशी-ख़ुशी इसमें उसका साथ दिया.

Source : Network18