मुंबई से एक बेहद शर्मनाक किस्सा सामने आया है. घटना बीते बुधवार बोरिवली रेलवे स्टेशन की है, जहां कुछ लोगों ने प्लेटफ़ॉर्म पर चलती दो महिलाओं के ऊपर गुटखा थूक कर उन्हें गंदा कर दिया. इस घटना ने न सिर्फ़ महिलाओं के कपड़ों पर दाग़ लगाए, बल्कि उनके मन को भी ठेस पहुंचाई.

सरफिरों द्वारा की गई इस घिनौनी हरक़त की शिकार संजना राव पेशे से रिसर्च एनालिस्ट हैं. घटना वाले दिन रात के करीब सवा दस बजे, वो अपनी दोस्त के साथ प्लेटफ़ॉर्म नंबर 7 पर चल रही थीं. संजना अपनी ड्यूटी कर घर वापस जा रही थी, उस समय प्लेटफ़ॉर्म ज़्यादा भरा हुआ नहीं था. वो सीढ़ियों की तरफ़ आगे बढ़ ही रहीं थी कि इतने में ट्रेन के दरवाज़े पर खड़े लोगों ने उनके ऊपर गुटखा थूक दिया. संजना के मुताबिक, ऐसा पहली बार नहीं था, जब उनके के साथ इस तरह की हरक़त की गई थी, बल्कि दो साल पहले भी ऐसा हो चुका था. पर उस समय उन्होंने इसे ग़लती समझ कर भुला दिया.

अब संजना का मानना है कि उनके साथ ये हरकत जानबूझ कर की गई है. घटना से गुस्साई रिसर्च ऐनालिस्ट ने हर ट्रेन पर एक पुलिसवाले को तैनात करने की मांग की है, ताकि वो प्लेटफ़ॉर्म पर निगरानी रखे सके और कोई भी शख़्स ऐसी हरकत करने से पहले से दोबारा सोचे. साथ ही उनका कहना है कि ऐसे उत्पादों पर बैन लगा देना चाहिए और इसका पालन भी सख़्ती से होना चाहिए चाहिए.

मामले में जब पश्चिम रेलवे के सीनियर डिविजन सिक्योरिटी कमिश्नर अनूप शुक्ला से बात की गई, तो उन्होंने कहा कि

हम पीड़ित महिलाओं से बात कर, आरोपियों की पहचान करेंगे. इसके साथ ही उन पर कड़ी कार्यवाही भी की जाएगी.

बोरीवली की ये घटना न सिर्फ़ महिलाओं की सुरक्षा पर सवाल खड़े करती है, बल्कि ये भी सवाल उठाती है कि क्या लोग सच में स्वच्छता के प्रति जागरूक हैं? हम इस घटना की कड़ी निंदा करते हैं.

Source : Mumbaimirror