आपने कहानियां सुनी होंगी, आपने फ़िल्में देखी होंगी, आपने ख़बरे पढ़ी होंगी, उन लोगों की जो पर्वत शिखरों पर चढ़ाई करते हैं. कोई माउंट एवरेस्ट पर चढ़ जाता है, कोई कंचनजंगा पर, पर उस ऊंचाई पर पहुंचकर कैसा लगता है, न हम बता सकते हैं और न आप महसूस कर पाएंगे. जब भी मैं उन पर्वतों के बारे में सोचता हूं तब उटपटांग सवाल मेंरे ज़हन में घर कर जाते हैं... क्या उन पहाड़ों पर सिर्फ़ बर्फ़ होती है? क्या सबसे ऊंची चोटी पर तेज़ हवाएं चलती हैं? क्या वहां सूरज की किरणें पहुंचती होंगी? वहां से चिल्लाने पर आवाज़ तो गूंजती ही होगी? शायद ये सवाल आपके भी मन में आते होंगे. ख़ैर, मैं इन सवालों का जवाब तो नहीं देने वाला (क्योंकि मुझे ख़ूद भी नहीं पता). हां, ऊस ऊंचाई से दिखने वाला नज़ारा कैसा होता है, मैं वो आपको दिखा सकता हूं.

तो फिर चलिए चलते हैं ऊंचे-ऊंचे पहाड़ों की ओर...

Everest(Asia) 8,848 मीटर

माउंट एवरेस्ट से इस लिस्ट की शरुआत होती है, ये दुनिया की सबसे मशहूर पर्वत चोटी भी है. हिमालय श्रृंखला में मौजूद एवरेस्ट दुनिया की सबसे ऊंची चोटी है. आपने अभी जिस तस्वीर को देखा उसे 8,300 मीटर की ऊंचाई से खींचा गया है.

Aconcagua(South America) 6,962 मीटर

एशिया के बाहर ये सबसे बड़ी पर्वत चोटी है. अर्जेन्टीना के बॉडर में पड़ने वाली चोटी चिली के बॉर्डर के भी काफ़ी करीब है. तस्वरी में पर्वतारोही चींटी की भांती दिख रहे हैं और उनके साथ-साथ बादल भी चल रहा है.

Mount Mckinley(North America) 6194 मीटर

Mount उर्फ़ Denali, ये चोटी 610 मीटर ऊंचे पठारी क्षेत्र पर मौजूद है. पर्वतारोहियों के अनुसार, इस पर चढ़ाई करना बेहद मुश्किल काम है. सिर्फ़ इसलिए नहीं क्योंकि यहां तापमान बहुत कम रहता है, बल्कि इसलिए भी क्योंकि इस पर्वत पर लगभग 3,700 मीटर की सीधी चढ़ाई है.

Kilimanjaro(Africa) 5,895 मीटर

Tanzania में स्थित Kilimanjaro एक निष्क्रिय ज्वालामुखी है. ये चर्चित चोटी हाल के दिनों ख़बरो में थी क्योंकि इस चोटी पर मौजदू बर्फ़ बहुत तेज़ी से पिघलने लगी थी.

Elbrus(Europe) 5,642 मीटर

रूस में मौजूद Elbrus यूरोप की सबसे बड़ी पर्वत चोटी है. Kilimanjaro की तरह ये चोटी भी एक निष्क्रिय ज्वालामुखी है. सबसे ऊंची जगह से उगते सूरज की ली गई ये तस्वीर बेहद ख़ूबसूरत है.

Vinson Massif(Antartica) 4,892 मीटर

दुनिया के निचले इलाके की ये सबसे ऊंची चोटी है. Ellesworth के पहाड़ों में मौजूद इस चोटी को सबसे पहले अमेरिका की जल सेना ने खोजा था, उपर्युक्त पहली तस्वीर स्पेस से ली गई है, दूसरी तस्वीर पृथ्वी की है.

Carstensz Pyramid (Australia-New Guinea) 4,884 मीटर

एक डच खोजकर्ता के नाम पर इस चोटी का नाम रखा गया है. पर्वतारोहियों के लिए ये चोटी इसलिए भी ख़ास है क्योंकि यहां दुनिया का सबसे बड़ी सोने की खान और तीसरी सबसे बड़ी कॉपर की खान है.

मुझे यकीन है, इन तस्वीरों को देख कर इस बढ़ती गर्मी में आपको ज़रूर थोड़ी राहत मिली होगी.

Source: scribol