सूरत म्युनिसिपल कॉरपोरेशन ने महिला ऑटोरिक्शा-चालकों के लिए Pink Auto Service की शुरुआत की है. रविवार के दिन ये ऑटोरिक्शा चालक सिर्फ़ Women Passengers को ही बिठाएंगे.

SMC ने महिला ऑटोरिक्शा चालकों को ट्रेनिंग दी और उन्हें ऑटोरिक्शा खरीदने के लिए बैंक से लोन दिलाने में भी सहायता की.

SMC के एक अधिकारी गायत्री ज़रीवाला ने बताया,

'हमारे पास 70 महिलाओं का Batch है, इनमें से 15 काम शुरू करने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं. उनके पास Licence हैं और हमने अलग-अलग स्कूलों में काम दिलवाने में उनकी मदद भी की है.'

इस पूरी मुहिम के लिए गायत्री ने बताया,

'अख़बारों में हम अकसर Women Passengers के साथ होने वाली छेड़छाड़ के बारे में पढ़ते हैं. इसलिये हमने इस नई सर्विस को शुरू करने का निर्णय लिया. इससे न सिर्फ़ महिलाओं को रोज़गार के नए अवसर मिलेंगे, बल्कि Woman Passengers भी सुरक्षित महसूस करेंगी.'

SMC ने बैंक ऑफ़ बरोडा के साथ Tie up किया है, जिससे महिला चालकों को 7 प्रतिशत Interest पर ही ऑटो खरीदने के लिए लोन मिल जाएगा. बैंक ऑफ़ बरोडा ने Woman Applicants को हर ऑटो के लिए 84,000 रुपये देने का फ़ैसला किया है. इसके अलावा सरकार की सब्सिडी से 25 प्रतिशत कम दर पर ऑटो देने की भी घोषणा की है.

ये माना जा रहा है कि ये 15 महिलायें प्रति महीने 18,000 रुपये कमा लेंगी. SMC ने भविष्य में Pink Van Service भी शुरू करने की प्लैनिंग है.

महिलाओं के सशक्तिकरण की तरफ़ ये एक सुनहरा कदम है.

Source: TOI

Feature Image Source: Khabar Non-Stop