बचपन कितना अच्छा होता है ना... किसी चीज़ की कोई परवाह नहीं होती, बस मस्ती और मज़े. लेकिन ये हम सब अपनी ज़िन्दगी में बचपन को मौज-मस्ती के साथ एन्जॉय कर पाते हैं क्योंकि हमारे पेरेंट्स हमारी हर छोटी से छोटी ख़ुशी का ख़्याल रखते हैं. कोई खिलौना खरीदना हो या छुट्टियों में कहीं घूमने जाना इन हो. बचपन की सबसे अच्छी यादें होती हैं जब हम पेरेंट्स के साथ मज़ेदार छुट्टियां बिताने के लिए किसी हिल स्टेशन, या सी-बीच पर जाते हैं. क्यों सही कहा न मैंने... यही चीज़ आपके पेरेंट्स भी आपसे एक्सपेक्ट करते हैं कि अब आप उनको घुमाने ले जाए और करें भी क्यों नहीं उनकी ख़ुशी का ख़्याल रखना उनके बच्चों का ही फ़र्ज़ है.

अब आप सोचेंगे कि वैसे तो भारत में घूमने के लिए बहुत सी जगहें हैं लेकिन पेरेंट्स के साथ कहां घूमने जाया जा सकता है, तो जनाब फ़िक्र नॉट! इसका जवाब भी हम आपके लिए लेकर आये हैं. आज हम आपके लिए ऐसी जगहों की लिस्ट लेकर आये हैं, जहां आप अपने पूरे परिवार के साथ घूमन के लिए जा सकते हैं. साथ ही अपने पेरेंट्स को एक यादगार यात्रा और रोमांच का अनुभव करा सकते हैं.

1. रामेश्वरम

Source: travelogyindia

रामेश्वरम, चार धामों में से एक है. जो लोग अपने पेरेंट्स को धार्मिक स्थलों पर ले जाना चाहते हैं या वो जिनके माता-पिता धार्मिक आस्था वाले हैं उनको रामेश्वरम जाना चाहिए. यहां पर आपको मन की शान्ति के साथ-साथ प्रकृति का साथ भी मिलेगा. रामेश्वरम मन्नार की खाड़ी में पम्बन प्रायद्वीप में सबसे ऊंचाई पर स्थित है. भारत में वाराणसी के साथ-साथ ये स्थान हिन्दुओं के लिए एक तीर्थ स्थान है.

2. अमृतसर

Source: vivacepanorama

अमृतसर में सिख धर्म के अनुयायियों के लिए सबसे पवित्र मंदिर यानि की गोल्डन टेम्पल या स्वर्ण मंदिर है. अगर बात की जाए स्वर्ण मंदिर की तो ये भारत की सबसे शांत और नम्र जगहों में से एक है और यहां पर आप पूरे परिवार के साथ आकर छुट्टियों का मज़ा ले सकते हैं. यहां के कण-कण में आपको लंगर की खुशबू आएगी. अमृतसर के नज़दीक ही स्थित है जलियावाला बाग भी एक दर्शनीय स्थल है.

यहां पहुंचने के लिए अपने नज़दीकी एयरपोर्ट से फ़्लाइट ले सकते हैं और बाकी शहर और उसके आस पास की जगहों पर जाने के लिए सड़क मार्ग बेस्ट है.

3. गिर नेशनल पार्क

Source: news18

आपके पेरेंट्स भी एडवेंचर के शौक़ीन हो सकते हैं. इसलिए आप उनको गिर नेशनल पार्क, जो एशियाई शेरों के घर के नाम से भी जाना जाता है, ले जा सकते हैं. गिर नेशनल पार्क गुजरात में गिरनार जंगल के पास स्थित है. यहां की खासियत है कि यहां पर साथ नदियां हिरन, शेत्रुंजी, दतार्दी, शिन्गोदा, मछुन्दरी, गोदावरी और रावल बहती हैं. यहां आपको विभिन्न प्रजातियों के कई जानवर देखने को मिलेंगे. यहां जाने के लिए सबसे अच्छा समय नवम्बर से फ़रवरी तक माना जाता है. हवाई, रेल और सड़क मार्ग के जरिए आप आसानी से गिर नेशनल पार्क पहुंच सकते हैं.

4. काजीरंगा नेशनल पार्क

Source: jansatta

अपने पेरेंट्स साथ आप काजीरंगा नेशनल पार्क भी घूमने जा सकते हैं. गर्मी की छुटि्टयों में यह एक बेहतर जगह है. मध्‍य असम में स्‍िथत है काजीरंगा नेशनल पार्क. ऐसा कहा जाता है कि पूरी दुनिया में केवल यही एक स्थान है, जहां एक सींग वाला गेंडा (Rhino) दिखाई दे सकता है. इसके अलावा यहां पर आप बारहसिंगा, हाथी, तेंदुए, विभिन्न प्रजातियों के बाज, चील, तोते जैसे तमाम पक्षियों को देख सकते हैं.

5. कॉर्बेट नेशनल पार्क

Source: hdgkn

प्रकृति व वन्य प्रेमियों के लिए कॉर्बेट नेशनल पार्क किसी जन्नत से कम नहीं है. इस पार्क को दुनिया की सबसे आकर्षक और रोमांचकारी जगहों की सूची में रखा गया है. यहां पर दुर्लभ पेड़ पौधों और वनस्पति के साथ-साथ आप तरह-तरह के जंगली जानवरों को एकसाथ देखने का लुत्फ़ उठा सकते हैं. इस पार्क में लगभग 600 प्रजातियों के रंग-बिरंगे पक्षी रहते हैं. इसके अलावा आप यहां 51 प्रकार की झाड़ियां, 30 प्रकार के बांस और लगभग 110 प्रकार के विभिन्न वृक्ष देख सकते हैं.

Source: devbhoomi

कॉर्बेट नेशनल पार्क में स्थित विभिन्न रिसॉर्ट्स रिवर यहां आने वाले पर्यटकों कोसी नदी में रॉफ्टिंग का की सुविधा भी देते हैं. वहीं यहां आप जंगल सफ़ारी जिसमें जीप सफ़ारी शामिल है में पूरा पार्क घूम कर अपनी यात्रा को यादगार बना सकते हैं.

6. आगरा

Source: ytimg

मोहब्बत की निशानी यानि कि ताजमहल, जो आगरा में स्थित है को दुनिया के सातों आश्चर्यों में से एक माना जाता है. प्यार की इस निशानी को देखने के लिए देश-विदेश के पर्यटक आते हैं. ताजमहल एक मक़बरा है, इसे मुग़ल बादशाह शाहजहां ने अपनी बेग़म मुमताज़ महल की याद में बनवाया था.

Source: mytravelbuddy

आगरा में इस वर्ल्ड हेरिटेज साइट के अलावा आप आगरा फ़ोर्ट भी घूम सकते हैं. साथ ही यहां से कुछ दूर ही फ़तेहपुर सीकरी भी है. अपने पेरेंट्स को आप आगरा लाने के लिए सड़क मार्ग भी ले सकते हैं. वरना पैलेस ऑन व्हील्स या फिर रॉयल राजस्थान इन दो लग्ज़री ट्रेन से भी यहां पहुंच सकते हैं.

7. हरिद्वार

Source: ytimg

हरिद्वार, जहां कुम्भ मेले का आयोजन भी किया जाता है, एक धार्मिक स्थल है. पेरेंट्स के लिए यहां आना बहुत ही अच्छा अनुभव होगा. यहां पर हिमालय से निकलने वाली गंगा नदी का मनोरम दृश्य और पहाड़, पहाड़ों पर बने मंदिर किसी के लिए भी अनूठा अनुभव हो सकते हैं. पौराणिक कथाओं के अनुसार, हरिद्वार उन चार स्थानों में से एक है जहां पर समुद्रमंथन के दौरान गरुण द्वारा अमृत का कलश स्वर्ग ले जाने से दौरान अमृत की कुछ बूंदे गंगा नदी में गिरी थीं. इसलिए यहां के पवित्र जल को अमृत और रोगनाशक माना जाता है. इसीलिए यहां कुंभ मेले का आयोजन किया जाता है.

8. वाराणसी

Source: businessworld

वाराणसी को भारत के सबसे पवित्र और धार्मिक शहर का दर्जा प्राप्त है. उत्तरप्रदेश में गंगा किनारे स्थित है वाराणसी. गंगा किनारे के घाट, घाटों पर होने वाली गंगा आरती यहां आने वाले हर पर्यटक का मन मोह लेती है. यहां विदेशी पर्यटकों का भी जमावड़ा रहता है. वाराणसी में भगवान शिव के अलावा कई अन्य भगवानों की मंदिर भी हैं.

9. बोध गया

Source: fthmb.tqn

बिहार में स्थित है बोध गया. इस स्थान के लिए कहा जाता है कि ये ही वो स्थान है जहां भगवान बुध को ज्ञान प्राप्त हुआ था. अपने माता-पिता को इस ऐतिहासिक और पौराणिक जगह पर ले जाकर आप उन्हें रोमांचकारी अनुभव करवा सकते हैं. यहां पर देश के इतिहास से जुड़े कई बुध मंदिर भी मौजूद हैं. बोध गया के नज़दीक ही स्थित है नालंदा विश्वविद्यालय, जिसके लिए कहा जाता है कि ये दुनिया की सबसे पुरानी पाठशाला है.

10. वैष्णो देवी

Source: skymetweather

माता का दरबार जो त्रिकुटा पर्वत पर स्थित है को वैष्णो देवी के नाम से भी जाना जाता है. अपने पेरेंट्स को देवी के दरबार के दर्शन कराकर आप उनके जीवन को सफल बना सकते हैं. ये पवित्र स्थान जम्मू-कश्मीर में स्थित है. देवी के दरबार तक पहुंचने के लिए आपको करीब 14 किमी की चढ़ाई करनी पड़ेगी, लेकिन बुज़ुर्गों के लिए यहां चॉपर को व्यवस्था भी है.

11. वर्कला

Source: thehindu

वर्कला, जो चट्टानों से सजा हुआ एक बेहद ख़ूबसूरत स्थान है. यहां पर स्थित है वर्कला बीच, जिसे 'पापनासम बीच' नाम से भी जाना जाता है. वर्कला, केरल के तिरुवनंतपुरम में स्थित एक समुद्री तट है. यह अरब सागर और हिन्द महासागर का हिस्सा है. 'पापनासम' शब्द का अर्थ है 'पापों का विनाश'. ऐसा माना जाता है कि पापनासम बीच में स्नान करने से पापों का विनाश हो जाता है. ये पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र है.

12. जगन्नाथ पुरी

Source: ommcomnews

दक्षिण भारत में स्थित जगन्नाथ पुरी की यात्रा आपके पेरेंट्स के लिए एक अविश्वसनीय अनुभव होगी. यहां पर बने ऐतिहासिक मंदिर उनको एक अलग दुनिया के दर्शन कराएंगे. इसके साथ ही आप उनको यहां से बंगाल की खाड़ी दिखाने भी ले जा सकते हैं.

13. हम्पी

Source: tazzakhabar

यूनेस्को की विश्व धरोहरों में से एक हम्पी घूमने के लिए बहुत ही सुन्दर जगह है. भले ही आज के लोगों के लिए एक खंडहर बन चुका है, लेकिन उत्तरी कर्नाटक के हंपी गांव की तस्वीर धन, भव्यता और शानदार धन, जो विजयनगर साम्राज्य का दावा करती है. यहां आप अपने माता-पिता को प्राचीन काल के शानदार मंदिरों, मूर्तियों, मंदिरों के प्रवेश द्वार और वास्तुशिल्प के दर्शन करा सकते हैं. ये स्थान उत्तरी कर्नाटक में स्थित है. दिसंबर महीने में होने वाले हम्पी महोत्सव के दौरान घूमना एक रोमांचकारी अनुभव होता है.

14. धर्मशाला

Source: tazzakhabar

हिमाचल प्रदेश में स्थित है घने शंकुधारी जंगलों से घिरा धर्मशाला. धर्मशाला, समुद्र तल से लगभग 1,250-2,000 मीटर की ऊंचाई पर बसा हुआ है. ये हिमाचल प्रदेश का एक ख़ूबसूरत पहाड़ी शहर है. ये स्थान अपनी प्राकृतिक सुंदरता के लिए जाना जाता है, जहां पाइन के ऊंचे पेड़, चाय के बागान और इमारती लकड़ी पैदा करने वाले बड़े वृक्ष शांति और पवित्रता के साथ यहां खड़े दिखाई देते हैं. 1959 में दलाई लामा के तिब्बत से भागने और इस खूबसूरत पहाड़ी में बसने के बाद तिब्बती समझौते के कारण धर्मशाला को स्थापित किया गया था. इस क्षेत्र में कई मठ, स्कूल और मंदिर बनाए गए हैं और इसलिए यह भारत के एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल है.

15. तवांग

Source: amazonaws

तवांग, अरुणाचल प्रदेश राज्य में स्थित है. तिब्बत और भूटान के बर्फ़ीले पहाड़ों से घिरा, यह एक महत्वपूर्ण बौद्ध पवित्र स्थान है. विश्व के दूसरे सबसे पुराने और सबसे बड़े मठ के रूप में पहचाने जाने वाले तवांग गोम्पा की यात्रा करना पर्यटकों के लिए बहुत महत्वपूर्ण है. यहां की यात्रा दुनियाभर के पर्यटकों को आकर्षित करती है. इस जगह पर लोगों पर आध्यात्मिक प्रभाव का अनुभव होता है. यहां आकर आप और पेरेंट्स प्राचीन काल के इतिहास का अनुभव करेंगे. इसके अलावा यहां आपको वॉटरफॉल, नदी, व्यापक हरियाली और प्रकृति के हर रूप के दर्शन होंगे.

16. गंगटोक

Source: oyorooms

पूर्वी हिमालय की पर्वतमाला में स्थित गंगटोक तिब्बती, नेपाली, लेपचा और भूटिया जैसे विभिन्न जातियों के लोगों का घर है. गंगटोक जिसका स्थानीय नाम गान्तोक है, भारत के उत्तर-पूर्वी राज्य सिक्किम की राजधानी है. गंगटोक जिसका स्थानीय नाम गान्तोक है, भारत के उत्तर-पूर्वी राज्य सिक्किम की राजधानी है. एक बहुत आकर्षक शहर है जो रानीपूल नदी के पश्चिम ओर बसा है. कंचनजंघा शिखर की संपूर्ण शृंखला का बेहद सुन्दर और मनोरम दृश्य यहां से दिखाई देता है.

गंगटोक के प्राचीन मंदिर, महल और मठ आपको सपनों की दुनिया की सैर कराएंगे. गंगटोक का मौसम साल के अधिकांश महीनों में सुहावना और सुखद रहता है, जो बुज़ुर्गों के लिए यहां आने के लिए अनुकूल रहती है. गंगटोक शहर वानस्पतिक और जैविक स्थिति भी समृद्ध है यहां आपको कई अलग-अलग रंगों में जंगली ऑर्किड्स देखने को मिल सकते हैं. इसके अलावा बांस के हरे-भरे झुंडों की भी यहां बहुतायत है. मगर इन सबके अलावा गंगटोक की अद्वितीय और रंगीन संस्कृति इस जगह को बहुत आकर्षक बनाती है.

17. कोडैकनाल

Source: kodaikanalbookmyrooms

अगर आप पेरेंट्स के साथ छुटियां मनाने का प्लान कर रहे हैं तो कोडैकनाल आज सबसे प्रसिद्ध स्थानों में से एक है. वृक्षों के अद्भुत प्राकृतिक सौंदर्य के साथ घने जंगल के बीच स्थित, चट्टानों और झरनों को देखना हो तो यहां जरूर जायें. कोडैकनाल पश्चिमी घाट में पलानी पहाड़ियों में स्थित एक सुंदर और खूबसूरत हिल स्टेशन है. शहर अपनी प्राकृतिक सुंदरता और लोकप्रियता के कारण जगह को हिल स्टेशनों की राजकुमारी के रूप में जाना जाता है. तमिलनाडु के डिंडागुल जिले में स्थित पारप्‍पर और गुंडर घाटियों के बीच स्थित है और ये समुद्र तल से 2133 मीटर की ऊंचाई पर है. यहां के मनोरम दृश्य, पहाड़ और प्राकृतिक सुंदरता आपका स्वागत करने के लिए तैयार है.

18. मनाली

Source: shoesonloose

जब-जब भारत में प्राकृतिक सुंदरता की बात होती है, तब-तब हिमाचल प्रदेश में स्थित मनाली का नाम ज़रूर आता है. मनाली की सुंदरता की तो कोई जवाब ही नहीं है. इस जगह को सैलानियों का स्वर्ग भी कहा जाता है. इस जगह में वो सारी खूबियां हैं, जो किसी मनभावन पर्यटन स्थल में होनी चाहिए. बर्फ़ से ढके पहाड़ और उनकी चोटियां, हरी-भरी घाटियां, कल-कल बहती निर्मल नदियां और झीलों को देखना किसी के लिए भी स्वर्ग से कम नहीं हो सकता. मनाली में, एक तरफ नगर के बीचो-बीच निकलती व्यास नदी पर्यटकों को लुभाती है, वहीं दूसरी तरफ हरे घास के मैदान, सेब के बागान और साथ में लोकगीत के सुर मनाली को अत्यंत मनमोहक बनाते हैं.

19. कूर्ग

Source: transindiatravels

कुर्ग, कर्नाटक के लोकप्रिय पर्यटन स्‍थलों में से एक है. मैसूर से 100 किलोमीटर की दूरी पर स्थित कूर्ग हिल स्टेशन प्राकृतिक खूबसूरती का प्रतीक है. यह स्थान प्राकृतिक सुंदरता का गढ़ है. कूर्ग को भारत का स्‍कॉटलैंड और कर्नाटक का कश्‍मीर भी कहा जाता है. यहां पर हरियाली, सुंदर घाटियां, रहस्‍यमयी पहाड़ियां, कॉफी और चाय के बागान, संतरे के पेड़, ऊंची-ऊंची चोटियां और नदियां, यहां आने वाले पर्यटकों का मन मोह लेती हैं.

20. शिलांग

Source: bijlinews

मेघालय की राजधानी शिलांग एक छोटा-सा शहर है जिसे पैदल घूमकर देखा जा सकता है. अपनी सुविधा के अनुसार सिटी बस या दिनभर के लिए ऑटो या टैक्सी किराए पर लेकर भी घूमा जा सकता है. शिलांग और उसके आसपास अनेक दर्शनीय स्थल जैसे, शिलांग पीक, लेडी हैदरी पार्क, कैलांग रॉक, वार्डस झील, मीठा झरना और हाथी झरना आदि हैं.

21. शिमला

Source: india

ज़्यादातर पेरेंट्स शिमला घूमने जाना पसंद करेंगे, ऐसा केवल इसकी लोकप्रियता के कारण नहीं, बल्कि यहां के जन-जीवन और प्राकृतिक सुंदरता की वजह से. हिमालय की चंद्राकार पहाड़ी पर लगभग 2213 मीटर की ऊंचाई पर बसा शिमला, हिमाचल प्रदेश की राजधानी भी है और साथ ही ये भारत का सबसे पुराना पर्वतीय पर्यटन स्थल भी है. सर्दी, गर्मी या फिर बसंत किसी भी मौसम में यहां घूमने का अपना अलग ही मज़ा है. यहां की हरी भरी पहाड़ियां, निर्मल झड़ने, शांत झील और ऊंची-ऊंची पड़हियां पर्यटकों को आकर्षित करती हैं. यहां एशिया का एकमात्र अपनी तरह का एक आइस स्केटिंग रिंग भी है.

22. ऊटी

Source: nativeplanet

कर्नाटक और तमिलनाडु की सीमा पर बसा ऊटी तमिलनाडु का एक शहर है. नीलगिरि की पहाड़ियों में बेस इस पर्वतीय स्थल को एक हिल स्टेशन के रूप में भी जाना जाता है. इसका नया और ऑफ़िशियल नाम 'उधगमंडलम' है जो एक तमिल नाम है. समुद्र तल से लगभग 7,440 फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित है ऊटी. ऊटी को ‘हिल स्टेशन की रानी’ भी कहा जाता है.

23. कश्मीर

Source: oneindia

हिंदुस्तान का दिल और धरती का स्वर्ग कहे जाने वाले कश्मीर में प्राकृतिक सुंदरता के अनूठे नज़ारे देखने को मिलते हैं. बर्फ़ से ढंके पहाड़ यहां की सुंदरता में चार-चांद लगाते हैं.

24. जयपुर

Source: tripoto

राजस्थानी परम्परा और राजसी ठाठ-बाट का अनुभव करना है, तो राजस्थान के जयपुर शहर का रुख करिये. इस शहर को पिंक सिटी के नाम से भी जाना जाता है. राजपूतों के गौरवशाली इतिहास का गवाह है जयपुर शहर.

25. अलेप्पी

Source: untravel

फ़ुर्सत के पल बिताना चाहते हैं तो अलेप्पी से बेहतर जगह कोई और हो ही नहीं सकती. शांत और सुकून से भरे अलेप्पी को पूरब का वेनिस भी कहा जाता है. यहां की नहरों और पाम के पेड़ों के बीच बने छोटे-छोटे तालाब और उनके आस-पास की हरियाली एक अलग ही रोमांच का अनुभव कराती है. केरल के पहले योजनाबद्द तरीके से निर्मित शहरों में से एक है अलेप्पी. इस शहर में जलमार्ग के कई रास्ते हैं जो एक स्थान से दूसरे स्थान जाने में मदद करते हैं और आपकी यात्रा को यादगार बनाते हैं. सुन्दर समुद्रतट, झीलें और फ़ेमस हाउसबोट यहां आपका इंतज़ार कर रहे हैं.

तो दोस्तों अब दीजिये अपने पेरेंट्स को इन जगहों की यात्रा का सरप्राइज़ पैकेज.