हर जगह हमारी सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए CCTV कैमरा लगाए गए हैं. ठीक उसी तरह देश की सीमा पर भी ऐसे कैमरा और ड्रोन सेट किये गए हैं, जो आने वाली किसी भी परिस्थिति के बारे में आगाह करते हैं. आपने होटल्स, मॉल्स, रेस्टोरेंट और रेलवे स्टेशन, मेट्रो स्टेशंस पर भी इस तरह के CCTV कैमरे देखे होंगे. ये सब हमारी सुरक्षा के लिए होते हैं. लेकिन कई बार इनसे हमारी व्यक्तिगत ज़िन्दगी भी प्रभावित हो जाती है. कई बार ऐसी ख़बरें आती हैं, कि इन कैमरों को ऑपरेट करने वालों पर सवालिया निशान खड़े हो जाते हैं. इस तरह के चीज़ें जितनी हमारी सुरक्षा की दृष्टि से उपयोगी हैं, उतनी ही हमारी निजी ज़िन्दगी के लिए हानिकारक हैं. ज़रा सोचिये कि कभी आप अपने पार्टनर के साथ प्यार के कुछ पल बिता रहे हों और अचानक से आपको पता चले कि आपके इन खूबसूरत पलों को किसी ने कैमरे में कैद कर लिया है, तो आप क्या करेंगे? ऐसा कई बार होता है कि आपको भी पता नहीं होता और आपकी निजी ज़िन्दगी के ख़ास पल लोगों के लिए मनोरंजन का साधन बन जाते हैं.

लेकिन आज जो खबर हम आपको बताने जा रहे हैं, उसमें जितनी गलती रिकॉर्डिंग करने वाले पुलिस ऑफ़िसर की है, उतनी ही रिकॉर्ड किये गए कपल की है. जी हां कुछ दिनों पहले एक ख़बर आई थी कि कुछ पुलिस ऑफ़िसर्स ने हेलीकॉप्टर से एक कपल की सेक्स करते हुए रिकॉर्डिंग की.

ये मामला ब्रिटेन के दक्षिण यॉर्कशायर का है, जहां पुलिस ने हेलिकॉप्टर से अपने बग़ीचे में सेक्स कर रहे एक जोड़े की पूरी रिकॉर्डिंग कर ली थी. इस मामले की सुनवाई कोर्ट में शुरू हो चुकी है. इस मामले में ब्रिटेन के साउथ यॉर्कशर में पांच पुलिस ऑफ़िसर्स एड्रिअन पोगमोर (51), मैथ्यू लूकस (42), ली वॉल्स (47), पायलट मैथ्यू लूज़मोर (45) और मैल्कम रीव्ज़ (64) पर सरकारी मशीनरी के दुरुपयोग का आरोप लगा था. हालांकि, पुलिस हेलिकॉप्टर को इस्तेमाल करते हुए सेक्स कर रहे लोगों के वीडियो बनाने के मामले में चार लोगों मैथ्यू लूकस, ली वॉल्स, मैथ्यू लूज़मोर और मैल्कम रीव्ज़ ने अपने ऊपर लगे आरोपों को ग़लत बताया था.

Sheffield Crown Court ने तीन हफ़्तों तक चली सुनवाई के बाद इन पुलिस हेलिकॉप्टर क्रू के इन चार सदस्यों को दोषमुक्त कर दिया. वहीं इस मामले में पांचवें आरोपी एड्रिअन पोगमोर ने अपनी पॉवर और सरकारी उपकरणों का दुरुपयोग करने की बात स्वीकार कर ली है.

सुनवाई के दौरान जज ने एड्रिअन पोगमोर से कहा, आप, शायद खुद को क़ानून के ऊपर मानते हैं. इसके साथ ही उन्होंने एड्रिअन पोगमोर को एक साल की कैद की सज़ा दी है. जज पीटर केल्सन ने एड्रिअन पोगमोर के बारे में सुना था कि वो पुलिस में 22 साल तक अपनी सेवा दे चुके हैं और उनको इस तरह की रिकॉर्डिंग करने के लिए ड्यूटी से बर्खास्त कर दिया गया था.

जज केल्सन ने कहा, देखा जाए तो आपने लाखों रुपये के हेलीकॉप्टर, जिस पर हर घंटे का खर्च हज़ारों डॉलर का है उसका इस्तेमाल आपने सेक्स के प्रति अपनी रुचि और सेक्सुअल डिज़ायर को पूरा करने के लिए किया. जबकि आपको इस 1 घंटे का उपयोग क्राइम को रोकने में करना चाहिए था. इस के साथ ही उन्होंने कहा कि 'अपराध का पता लगाने और उसको पहचानने के बजाय, आप खुद अपराध कर रहे थे.' आपका ऐसा काम करने के कारण जनता का पुलिस पर से भरोसा उठ जाएगा.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस मुकदमे के दौरान कोर्ट ने कई लोगों के पक्ष सुने. इनमें एक जोड़े को जुलाई 2008 में उस वक्त कैमरे में कैद किया गया था, जब नंगे बैठे हुए थे और धुप सेंक रहे थे. वहीं एयरक्राफ़्ट द्वारा की गई रिकॉर्डिंग में 2007 में एक बागीचे की भी फ़िल्म भी थी, जिसमें एक महिला अपनी बेटियों के साथ बिना कपड़ों के धूप सेंक रही थी.

हालांकि, ये मामला तब सामने आया, जब 2008 के एक फुटेज में एक कपल अपने घर के आंगन में सेक्स करता हुआ दिखा. इस फुटेज में ये भी सामने आया कि सेक्स कर रही महिला ने एयरक्राफ्ट को देखकर अपना हाथ भी हिलाया और इशारा किया.

वहीं फुटेज में दिख रही महिला ने कहा, ये मेरी प्राइवेसी का पूरी तरह से उल्लंघन है. पुलिस द्वारा किये गए इस तरह के काम से मैं काफी परेशान और दुखी हूं. अब अगर हमारी सुरक्षा करने वाले ही, हमारी प्राइवेसी को भांग करेंगे, तो हम किससे मदद की उम्मीद कर सकते हैं.

जांच अधिकारी रिचर्ड राइट के अनुसार, हेलिकॉप्टर चालक दल के सदस्यों ने ये रिकॉर्डिंग करने के लिए हाई क्वालिटी वीडियो कैमरे का इस्तेमाल किया था. इसके साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि ऐसा करना प्राइवेसी का उल्लंघन है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, कपल धूप में नेकेड था, तभी पुलिस ने फिल्म बनाई.

Source: metro