भारत में धर्म और राजीनति, लॉजिक और दिमाग़ से परे दो ऐसे Business हैं, जिन पर कोई उंगली उठाने से पहले 100 बार सोचता है. हम माने या न माने, लेकिन देश के सबसे अमीर और ताकतवर लोग इन्हें दो खेमों में हैं. वैसे ये समय बाबाओं के लिए थोड़ा बुरा चल रहा है. राम रहीम को 15 साल पुराने रेप केस में सज़ा सुनाई जा चुकी है. लोग भले जही मज़े में कह रहे हैं कि एक-एक कर सभी स्वघोषित बाबाओं की बारी आने वाली है, लेकिन ऐसा धीरे-धीरे हो रहा है.

Source: IBN

पुलिस ने ख़ुद को इच्छाधारी बाबा कहने वाले शिवा को भी गिरफ़्तार कर लिया. इस बाबा पर सेक्स रैकेट चलाने और सतह में सरकारी नौकरी दिलाने के बहाने लोगों को बेवक़ूफ़ बनाने के आरोप थे.

इच्छाधारी बाबा उर्फ़ शिवा को इससे पहले MCOCA के तहत एक हाई प्रोफ़ाइल Sex Racket चलाने के आरोप में पकड़ा गया था लेकिन फिर उसे बेल मिल गयी. लाजपत नगर के ACP और उनकी टीम ने 26 अगस्त को शिवा को उसके ईस्ट ऑफ़ कैलाश स्थित घर से पकड़ने की योजना बनाई.

कहा जाता है कि शिव पहले किसी कंपनी में सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करता था, फिर उसने एक मसाज पार्लर में नौकरी की. बाद में अपना पार्लर शुरू किया. रिपोर्ट्स के हिसाब से, यहीं पर उस पर सेक्स रैकेट चलाने के आरोप लगे. वो कुछ सालों के लिए जेल में भी रहा, फिर बाहर आया तो उसने ख़ुद को बाबा घोषित कर दिया और वो शिव से इच्छाधारी बाबा बन गया. बाकी झोलाछाप बाबाओं की तरह शिवा की भी अच्छी-ख़ासी Fan Following है.