प्रियंका चोपड़ा का नाम बॉलीवुड और हॉलीवुड, दोनों में ख़ूब चल रहा है. वो हॉलीवुड में फ़िल्में कर रही हैं, बड़े-बड़े इवेंट्स में उनके चर्चे होते हैं. प्रियंका UNICEF की गुडविल अम्बैस्डर भी हैं. UNICEF की मुहीम, जिसक मकसद बच्चों के ख़िलाफ़ हो रहे अपराधों को कम करना है. प्रियंका इसी के चलते ज़िम्बाब्वे गयी थी.

अफ़्रीका के बाकी देशों की तरह ज़िम्बाब्वे भी चाइल्ड सेक्सुअल अब्यूज़ और शारीरिक हिंसा की गिरफ़्त में है. बच्चों के साथ कुछ समय बिताने के बाद प्रियंका ने इनकी कुछ तस्वीरें इंस्टाग्राम पर शेयर की थी.

ये तस्वीर मशावा की है, वो 11 साल की है. उसके मां-बाप नहीं हैं और उसे अपने भाई-बहनों की अकेले देखभाल करनी पड़ती है. उसकी दादी बीमारी के चलते बेड रेस्ट पर हैं. मशावा की कहानी शेयर करते हुए प्रियंका ने लिखा, इस बच्ची को भगवान और शक्ति दे. ये अकेले सबको संभाल रही है. 'मेरे पास शब्द नहीं हैं इसके लिए. इसकी आंखों में गौर से देखेंगे, तो एक अजीब सा खालीपन दिखेगा. ये उसकी परिस्थितियों की झलक है. मैं ख़ुशनसीब हूं कि UNICEF की इस पहल का हिस्सा बनी.'

ऐसे ही एक परिवार के साथ लंच शेयर करने की तस्वीर भी प्रियंका ने डाली. इस परिवार को चलाने वाली Sarah 58 साल की हैं. उनकी दोनों बेटियों ने अपनी Teenage प्रेगनेंसी से हुए बच्चों को Sarah के पास छोड़ दिया. प्रियंका इस महिला के साहस की तारीफ़ करते हुए कहती हैं कि Sarah दिन भर कमरतोड़ मेहनत करती हैं, ताकि उसके नाती-पोते बुढ़ापे में उसका सहारा बनें.

इन बच्चों को प्रियंका के बाल बहुत पसंद आये. उनको प्रियंका के Straight बाल से खेलने में मज़ा आ रहा था और एक ने तो बोल भी दिया कि तुम्हारे सीधे बाल मेरे कर्ली बालों से अच्छे हैं.

इस पर प्रियंका का जवाब भी बड़ा ख़ूबसूरत था. प्रियंका ने कहा कि तुम सभी ख़ूबसूरत हो, सबसे अलग हो. न तो कभी ये सोचना, न किसी को तुम्हें ये बोलने देना कि तुम या तुम्हारे बाल अलग हैं.

बच्चे ने भी प्रियंका के साथ ख़ूब मस्ती की.