ये ड्रेस याद है?

2 साल पहले दुनिया में इसके लिए जंग चिढ़ गयी थी. या यूं कहूं, दोनों दो छोरों में बंट गयी थी. स्कॉटलैंड में एक औरत ने अपनी बेटी की शादी में ये ड्रेस पहनी, तो फिर ये ऐसी वायरल हुई कि लोग इसे आज तक नहीं भूल पाए हैं. उस वक़्त बहस में कईयों को लगा था कि ये Blue and Black है, जबकि कुछ इसे White and Gold बोल रहे थे.

और अब न्यू यॉर्क यूनिवर्सिटी के साइकोलॉजी के प्रोफ़ेसर इसके रंग पर दावा ठोक रहे हैं. Pascal Wallisch का कहना है कि इस गुत्थी को सुलझाने का एक ही तरीका है. Light!

Pascal का कहना है कि इस ड्रेस का कलर उस हिसाब से होगा, जिस हिसाब से आप सोचते हैं कि इस पर लाइट पड़ी होगी!

ऊपर से चला गया? ढंग से समझाते हैं!

जिन्होंने इस ड्रेस को पहना था, उनकी ये फ़ोटो Overexposed थी. यानि इस पर ज़्यादा लाइट पड़ रही थी. जिन्होंने भी इस Original फ़ोटो को देखा, उनके दिमाग़ ने अपनी सूझ-बूझ से फ़ैसला कर लिया कि इस पर नीली लाइट का शैडो है. इन लोगों के दिमाग़ ने नीले कलर को Subtract कर दिया, जिसकी वजह से उन्हें इसका रंग White and Gold दिखाई थी. लेकिन जिन्होंने इस फ़ोटो का Edited Version देखा, उन्हें इस ड्रेस पर आर्टिफ़िशल लाइट पड़ती हुई दिखी. आर्टिफ़िशल लाइट येलो होती है, जिस वजह से उनके दिमाग़ से येलो कलर को हटा कर देखा, तो उन्हें ड्रेस का कलर Blue and Black दिखा.

इसके अलावा एक और Theory है, जिसके हिसाब से,आप अगर दिन की रौशनी में ज़्यादा रहते हैं या यूं कहें कि अगर आप मॉर्निंग पर्सन हैं, तो आपको ये ड्रेस Gold and White दिखेगी. जबकि रात के उल्लुओं के लिए इसका रंग Blue and Black होगा.

कुल मिला कर, सारा चक्कर दिमाग़ का है. आपका दिमाग़ जिस तरह से चीज़ों को प्रोसेस करेगा, आपको वही दिखेगा.

इस जवाब ने एक और सवाल खड़ा कर दिया, क्या हम सभी रंगों को अलग-अलग तरीके से देखते हैं!

Source: Hindustan Times

Image Source: Wired