जुलाई में राधे मां का नाम अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद् द्वारा जारी की गयी नकली गुरुओं की लिस्ट में आया था. अब राधे मां को दिल्ली के विवेक विहार थाने में देखा गया. वहां उनका बड़ा भव्य स्वागत किया गया. एक न्यूज़ एजेंसी द्वारा शेयर की गयी तस्वीर में वो SHO की कुर्सी पर बैठी नज़र आ रही हैं.

फ़ोटो में SHO हाथ जोड़े उनके पीछे खड़े दिख रहे हैं. पुलिसकर्मियों ने राधे मां को ख़ास सम्मान दिया.

बताया जा रहा है कि जब तक राधे मां पुलिस स्टेशन में रहीं, 'राधे-राधे' के जयकारे लगते रहे. दरअसल, दिल्ली पुलिस ने नवरात्री में हुए एक केस की जांच शुरू की है. राधे मां रामलीला देखने जा रही थीं. उनके आस-पास भीड़ लग जाने के बाद SHO संजय शर्मा उन्हें पुलिस स्टेशन ले आये.

राधे मां पर सेक्स रैकेट चलाने से लेकर लोगों को धमकाने तक के संगीन इल्ज़ाम हैं, लेकिन ये तस्वीर देख कर कहना मुश्किल है कि माता के ये भक्त किसी को इंसाफ़ दिला पाएंगे.

गौरतलब है कि हिन्दू संतों की संस्था ने ऐसे फ़र्ज़ी लोगों की सूची जारी की थी, जो लोगों को बहकाते हैं. राधे मां का नाम भी इस लिस्ट में था. उनके साथ गुरमीत राम रहीम सिंह और आसाराम बापू का नाम भी इसमें शामिल था.

सितम्बर में बोरीवली के मजिस्ट्रेट ने भी राधे मां के खिलाफ़ आयी घरेलू हिंसा की शिकायत के बावजूद उन्हें छोड़ दिया था. महिला ने आरोप लगाया था कि राधे मां के कहने पर उसके ससुराल वाले उसके साथ घरेलू हिंसा कर रहे थे.