रेलवे मंत्रालय दिन पर दिन यात्रियों के लिए नई-नई सुविधाएं और योजनायें लेकर आ रहा है. आज ही रेलवे की ओर से फ़ूड रेट लिस्ट जारी की गई है. अब ख़बर है कि अगर आपने किसी भी एक्सप्रेस या सुपरफास्ट ट्रेन का टिकेट बुक कराया है और वो कन्फ़र्म नहीं हुआ है, तो आपको को अगली वैकल्पिक ट्रेन में कन्फ़र्म सीट मिल सकती है. फिर वो ट्रेन चाहे राजधानी एक्सप्रेस, शताब्दी या फिर दुरंतो ही क्यों न हो, आपको उसमें कन्फ़र्म टिकट मुहैया कराया जाएगा. इस योजना का नाम 'विकल्प योजना' है.

Source: scoopwhoop

अप्रैल से शुरू होगी 'विकल्प योजना'

आपको बता दें कि रेलवे 1 अप्रैल से ये 'विकल्प योजना' शुरू कर रहा है. इस योजना के तहत वेटिंग लिस्ट वाले यात्रियों को अगली वैकल्पिक ट्रेन में कन्फ़र्म सीट मुहैया करवाई जायेगी. लेकिन इसके लिए आपको टिकट बुक करते या कराते वक़्त 'विकल्प' ऑप्शन को चुनना होगा. वरना आपको ये सुविधा नहीं मिलेगी. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि वेटिंग टिकट होने पर आपको शताब्दी और राजधानी जैसी लग्ज़री ट्रेनों में यात्रा करने का मौका मिल सकता है.

Source: wikimedia

रेलवे की नई 'विकल्प योजना' के बारे में

जब भी हम कहीं जाने के बारे में सोचते हैं तो सबसे पहले ये बात दिमाग में आती है कि ट्रेन में टिकट कन्फ़र्म होगा कि नहीं. अगर नहीं हुआ तो कैसे जायेंगे. कई बार ऐसा भी होता है कि अगर कहीं जाना ज़रूरी है, तो लोग इस आस में वेटिंग टिकट ले तेते हैं, कि कुछ लोग तो टिकट कैंसल कराएंगे, तो उनका टिकट कन्फ़र्म हो जायेगा और दूसरों के कैंसिल कराने पर अपना टिकट कन्फ़र्म होने का इंतजार करते हैं. पर अब रेलवे इस 1 अप्रैल से एक नई योजना ला रही है, जिसमें अगर आपका वेटिंग टिकट कन्फ़र्म नहीं होता, तो आपको प्रीमियम ट्रेनों की खाली सीटों पर कन्फ़र्म टिकट दिया जाएगा.

किस आधार पर काम करेंगी 'विकल्प योजना'

  • आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अगर आपने टिकट बुक कराते वक़्त विकल्प ऑप्शन को नहीं चुना, तो वेटिंग टिकट पर आपको किसी भी वैकल्पिक ट्रेन में कन्फ़र्म सीट नहीं मिलेगी.
  • इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए आपको टिकट खरीदने के समय 'विकल्प' सुविधा का चुनाव करना होगा.
  • इसके तहत लंबी वेटिंग के कारण अगर आपकी टिकट कन्फ़र्म नहीं हो पाती है, तो उसी रूट पर रेलवे आपको दूसरी ट्रेन में कंफर्म टिकट दे देगी.
  • इस सुविधा की सबसे ख़ास बात यह है कि विकल्प टिकट के लिए यात्रियों को किसी भी तरह का कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं देना होगा.
  • इस सुविधा में टिकट बुकिंग करने के बाद अगर यात्रियों की टिकट बुक नहीं होती है, तो रेलवे की तरफ से यात्रियों के रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर कॉल आयेगा और विकल्प सुविधा के लिए मंजूरी ली जायेगी.
Source: thelogicalindian

गौरतलब है कि ‘विकल्‍प’ नाम की इस योजना का मुख्य उद्देश्‍य राजधानी, शताब्‍दी, दुरंतो जैसी लग्ज़री ट्रेनों की खाली सीटों का सही इस्तेमाल करना है. विकल्प सुविधा यात्रियों को वेटिंग टिकट की मारामारी के बीच राहत पहुंचाने का काम करेगी. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि रेलवे हर साल यात्रियों द्वारा कैंसल किए गए टिकटों पर लगभग 7,500 करोड़ रुपए का रिफंड करती है. रेल मंत्रालय के वरिष्‍ठ अधिकारी ने इस योजना को पैसेंजर फ्रेंडली बताते हुए कहा कि इससे वेटिंग टिकट धारी यात्री को उसी रूट पर अन्‍य वैकल्पिक ट्रेन में कन्फ़र्म बर्थ मिल सकेगी.

रेलवे के एक अधिकारी के अनुसार, इसके जरिये वेटिंग टिकट वाले यात्रियों को कन्फ़र्म सीट मुहैया कराना है और उपलब्ध सीटों को इस्तेमाल करना है. प्रीमियम ट्रेनों में फ्लेक्सी सिस्टम शुरू किए जाने के बाद से सीटें खाली रह जाती है.

टिकट बुक करते वक़्त जो नंबर दिया जाएगा उसी पर आएगा मेसेज

वेटिंग लिस्ट के यात्रियों को कन्फ़र्म बर्थ है या नहीं इसे लेकर असमंजस की स्थिति न रहे. इसलिए रेलवे ने एक व्यवस्था यह बनाई है कि उनके मोबाइल पर कन्फ़र्म बर्थ का मैसेज आएगा. इसमें कोच व बर्थ दोनों की जानकारी होगी. इस मैसेज को वह टीटीई को दिखाकर यात्रा कर सकते हैं. रेलवे की इस सुविधा का फायदा लेने के लिए यात्रियों को इस बात का ख्याल रखना होगा कि वह आरक्षण चार्ट में वही मोबाइल नंबर दर्ज करे, जिसे लेकर वह यात्रा करेंगे.

Source: news18