#MeToo आंदोलन में कई बड़े चेहरों के नाम आए थे. इस श्रृंखला में एक और बहुत बड़ा नाम जुड़ चुका है. निर्देशक राजकुमार हिरानी पर एक महिला ने इल्ज़ाम लगाया है कि मार्च 2018 और सितंबर 2018 के बीच 'संजू' की शूटिंग के दौरान कई राजू हिरानी ने उसके साथ Assault किया.

3 नवंबर, 2018 को महिला ने घटना की जानकारी विधु विनोद चोपड़ा और उनकी पत्नी अनुपमा चोपड़ा को मेल के ज़रिए दी. 'एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा' की निर्देशिका शैली चोपड़ा धर और स्क्रीप्ट राइटर अभिजात जोशी को भी मेल में मार्क किया गया था.

Source: Law.com

महिला ने मेल में लिखा कि 9 अप्रैल, 2018 को हिरानी ने महिला पर भद्दे कमेंट किए और घर-दफ़्तर में उसके साथ Sexually Assault किया. महिला ने मेल में लिखा,

सर, ये ग़लत है... आपके पास Power है और मैं सिर्फ़ एक असिस्टेंट हूं, कुछ नहीं हूं. मैं कभी ख़ुद को आपके सामने Express नहीं कर पाऊंगी.

मेल में आगे लिखा,

अगले 6 महीनों तक मेरा दिल, दिमाग़ और शरीर बुरी तरह प्रभावित हुआ.

हिरानी ने अपने वक़ील, आनंद देसाई के ज़रिए इस मामले पर बयान दिया है और इन इल्ज़ामों का ग़लत बताया है. रविवार को एक स्टेटमेंट जारी करते हुई हिरानी के वक़ील ने कहा,

मेरे क्लाइंट इन इल्ज़ामों को बेबुनियाद बताते हैं. ये सारे इल्ज़ाम झूठे हैं.
Source: Highlights India

महिला ने ये भी कहा कि हिरानी के व्यवहार ने उसे अंदर तक हिला दिया था लेकिन वो नौकरी नहीं छोड़ सकती थी क्योंकि उसके पिता गंभीर बीमारी से ग्रसित थे. उसे ये भी डर था कि हिरानी इंडस्ट्री में उसका नाम ख़राब कर देंगे.

India Today के अनुसार, हिरानी के पास जब इस पर जवाब मांगा गया तो उन्होंने उस महिला और अपने बीच हुई बातचीत के सुबूत के तौर पर Messages और Mails दिखाए.

हिरानी ने किसी भी तरह की जांच में अपना पूरा सहयोग देने का आश्वासन भी दिया है.