भारत में रेप की घटनाएं बड़ी संख्या में हो रही हैं. ऐसे में महिलाओं को सुरक्षित रखने के लिए एक लड़की ने रेप से बचाने वाला अंडरवियर बनाया है. इस अंडरवियर में लॉक है, GPS है, जो ऐसी स्थिति में पुलिस को अलर्ट करेगा और कैमरा है, जो हमला करने वाले की तस्वीर लेगा. इसे रेप-प्रूफ़ अंडरवियर कहा जा रहा है.

सीनू कुमारी उत्तर प्रदेश के फ़र्रुख़ाबाद के एक ग़रीब परिवार में जन्मी थी. उसने लगभग चार हज़ार की लागत से ये अंडरवियर बनाया है, जिसमें एमर्जेन्सी बटन और कॉम्बिनेशन लॉक है.

पिंक रंग का ये अंडरवियर बुलेट-प्रूफ़ है और चाकू से भी नहीं काटा जा सकता. सीनू जल्द ही इसे मार्केट में लाना चाहती हैं. यौन शोषण, रेप और बाल यौन शोषण के मामले आये दिन उत्तर प्रदेश में सुनने को मिलते हैं. यहां रेप वीडियोज़ का कारोबार भी धड़ल्ले से चल रहा है.

सीनू ने बताया कि पासवर्ड के बिना इस अंडरवियर को खोला नहीं जा सकता. इसमें एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण लगा है, जिसमें GPS और कॉलिंग की सुविधा भी है.

जब भी इसे पहनने वाली महिला के साथ ज़ोर-ज़बरदस्ती की जाएगी, इस उपकरण से रिश्तेदारों और पुलिस को सूचना मिल जाएगी. GPS के सहारे पुलिस मदद के लिए पहुंच सकेगी. इसमें एक वीडियो रिकॉर्डर भी लगा है, जो सबूत भी इक्कट्ठे कर लेगा.

सीनू ने बताया कि इसे हमेशा पहनने की ज़रूरत नहीं है. अकेले यात्रा करते हुए इसे पहना जा सकता है.

हमले की स्थिति में महिला को इस अंडरवियर में लगा एमर्जेन्सी बटन दबाना होगा. इससे पहले से सेट किया गया एमर्जेन्सी नंबर ख़ुद डायल हो जायेगा.

इस अंडरवियर का प्रोटोटाइप इलाहाबाद स्थित National Innovation Foundation में भेजा गया है. वहां इसका पेटेंट लिया जायेगा.

सीनू ने कहा है कि वो इसमें बेहतर क्वालिटी का कपड़ा और अच्छे उपकरण इस्तेमाल करती हैं. जल्द ही ये प्रोडक्ट मार्केट में उपलब्ध हो जायेगा.

Source: Dailymail