बीते शनिवार दिल्ली के शाहदरा के गांधी नगर इलाके में स्थित टैगोर पब्लिक स्कूल के परिसर में 5 साल की मासूम बच्ची के साथ बलात्कार करने वाले 40 वर्षीय विकास को अब अपनी बेटी की सुरक्षा की चिंता हो रही है. दिल्ली सरकार ने मासूम के साथ हुए रेप की न्यायिक जांच करने के आदेश दिए हैं. TOI के अनुसार, पूछताछ के दौरान आरोपी ने पुलिस से अपनी बेटी की सुरक्षा सुनिश्चित करने की मांग की है. इसके साथ ही वो अपनी फ़ैमिली की डिटेल देने में भी झिझक रहा था. गौरतलब है कि विकास को पीड़ित बच्ची द्वारा दिए गए ब्योरे के आधार पर ही गिरफ्तार किया गया.

Source: ndtv

पुलिस बच्ची के साथ हुए इस दर्दनाक हादसे में स्कूल की भूमिका की भी जांच कर रही है. ईस्टर्न रेंज के जॉइंट कमिश्नर रविंद्र यादव ने TOI को बताया कि स्कूल के अधिकारियों और शिक्षकों से आज पूछताछ की जाएगी. हम जांच कर रहे हैं कि कहीं उनकी तरफ से तो किसी तरह की लापरवाही नहीं की गई है. आने वाले 10 दिनों के अंदर चार्जशीट दाखिल की जाएगी."

इसके साथ ही उन्होंने कहा, 'आरोपी ने सोचा था कि उसने परफेक्ट क्राइम किया है, और वो इससे बच जाएगा, लेकिन शायद उसको ये नहीं पता था कि बच्ची को उसका नाम पता था और उसने अपने पेरेंट्स को उसके साथ हुई पूरी घटना के बारे में बता दिया.'

Source: ndtv

शाहदरा के डीसीपी नुपूर प्रसाद ने कहा, घटना के बाद आरोपी उस्मानपुर में अपने एक रिश्तेदार के घर में जाकर छुप गया. स्कूल स्टाफ़ द्वारा उसकी पहचान की पुष्टि होने के बाद, उसके सेलफोन और उसके मूवमेंट्स को ट्रैक किया गया और उसे पकड़ा गया. उसने पुलिस को गुमराह करने की कोशिश की कि कोई भी उसके खिलाफ शिकायत नहीं कर रहा है.

आरोपी विकास मूलतः झारखंड का निवासी है और दिल्ली के गांधी नगर इलाके में अपनी पत्नी और 16 साल की बेटी के साथ रहता है. वो 2009 में दिल्ली आया था. उसका 14 वर्षीय बेटा झारखण्ड में ही एक रिश्तेदार के यहां रहकर पढ़ाई कर रहा है. विकास पिछले तीन सालों से स्कूल में बतौर सुरक्षा गार्ड काम कर रहा था और हाल ही में उसने एक वैन में बच्चों को लाने ले जाने का काम भी शुरू किया था. उसकी पत्नी दूसरों के घरों में काम करती है. इससे पहले वो दो स्कूलों में ड्राइवर का काम कर चुका है.

इससे पहले का उसको कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं है. पुलिस उसके पूर्व स्कूलों से भी कांटेक्ट करने की कोशिश कर रही है, ताकि उसके बारे में और पता चल सके. बीते रविवार को विकास को अदालत में पेश करने से पहले 14 दिनों के लिए न्यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल भेजा गया है.

Representational Feature Image

Source: TOI