हिन्दुस्तान में हर आधे घंटे में किसी महिला या बच्ची का बलात्कार किया जाता है. ध्यान देने वाली बात ये भी है कि इस आंकड़े में Marital Rape से जुड़ी कोई जानकारी नहीं है.

देश में आए-दिन सिर्फ़ बलात्कार और यौन-शौषण की ख़बरें पढ़ने-सुनने को मिलती हैं. केरल की ये ख़बर उम्मीद की किरण जैसी ही है. केरल के स्पेशल कोर्ट ने बलात्कार के आरोपी पादरी को उम्रक़ैद की सज़ा दी है. पादरी Sanil K James को अदालत ने मृत्यु आने तक उम्रक़ैद की सज़ा दी गयी है.

Source: Punjab Kesari

Sanil पर 13 साल की बच्ची का 2013 से लगातार बलात्कार करने का आरोप था.

Session कोर्ट के जज, Nixon M Joseph ने पादरी को POSCO Act के तहत सज़ा सुनाई. Public Prosecutor Pious Mathew ने बताया,

'ये सज़ा दूसरों के लिए एक चेतावनी है. किसी भी गुनहगार को बख्शा नहीं जाएगा. आरोपी ने दो बच्चीयों को अपनी हवस का निशाना बनाया. वो कड़ी से कड़ी सज़ा का हक़दार है.'
Source: India TV

Sanil ने 13 साल की बच्ची का सबसे पहले 2013 में, क्रिसमस के दौरान बलात्कार किया. बच्ची चर्च में Christmas Carol गाने गई थी. पादरी ने बाकी बच्चों को टी.वी. देखने के लिए भेज दिया और पास वाले कमरे में बच्ची को अपनी हवस का शिकार बनाया. दूसरी बार पादरी ने बच्ची के घर पर और तीसरी बार अपने ख़ुद के घर पर उसे अपनी हैवानियत का शिकार बनाया. स्कूल के एक Counselling Session के दौरान बच्ची ने घटना का ज़िक्र किया और पादरी की करतूत सामने आई.

Sanil अभी एक 12 साल की बच्ची का लगातार बलात्कार करने आरोप में 40 साल की सज़ा काट रहा है.

पुलिस के अनुसार, Sanil ने दोनों ही बच्चियों के माता-पिता से अच्छे संबंध बना के रखे थे. दोनों ही बच्चियां एक ही स्कूल में पढ़ती थी.

Source: CIMS Kerala

माता-पिता को भी अपने बच्चों के प्रति थोड़ा अधिक सजग होना पड़ेगा क्योंकि दरिंदा आपके ही घर में ये आपके घर के आस-पास ही होता है.

ये फ़ैसला न्याय और इंसानियत की जीत है. उम्मीद है देश में पस्त पड़ चुकी काऩून व्यवस्था में थोड़ी तंदरुस्ती आ जाए.

Source: The Quint