वाकई कुछ ख़बरें ऐसी होती हैं, जिन्हें देखने या सुनने के बाद मन ख़राब सा हो जाता है. देश के प्रति सम्मान और लगाव सभी को होता है. हम से कुछ लोग ऐसे भी होते हैं, जिन्हें देश से इतना प्यार होता कि वो उसके लिए अपनी जान तक दांव पर लगा देते हैं, लेकिन बदले में उन्हें क्या मिलता है, ये जानना कोई भी ज़रूरी नहीं समझता.

ऐसे हो लोगों में शुमार हैं हरियाणा की संतोष. आम-सी दिखने वाली संतोष राष्ट्रीय स्तर की चैंपियन हैं, और पावरलिफ्टिंग में 7 बार स्वर्ण पदक जीत चुकी हैं. हैरान करने वाली बात ये है कि ये चैंपियन अब अपने परिवार का पालन-पोषण करने के लिए चाय बेच रही हैं.

मीडिया से बातचीत के दैरान संतोष ने बताया, 'ट्रेनिंग पीरियड में प्रैक्टिस के दौरान मुझे चोट लग गई थी. चोट इतनी गहरी थी कि उससे उबरने में उन्हें वक़्त लग गया, जिसके कारण पावरलिफ्टिंग की दुनिया में कमबैक न कर सकीं. मैं चाहती हूं कि गर्वमेंट नौकरी दिलाने में मेरी मदद करे.'

किसी ने सच ही कहा है कि 'एक महिला दर्द सिर्फ़, एक महिला ही समझ सकती है.' संतोष की मदद करने के बॉलीवुड ऐक्ट्रस रवीना टंडन आगे आई और उन्होंने ट्वीटर पर मेनिका गांधी, सुषमा स्वराज और शायना एनसी को टैग करते हुए, पीड़ित ख़िलाड़ी के लिए मदद की गुहार लगाई.

मामले को गंभीरता से लेते हुए, मेनिका गांधी ने खेल मंत्री पीयूष गोयल को मामले में आवश्यक कार्यवाई करने की गुज़ारिश की है.

वाकई हमारे लिए इससे शर्म की बात और क्या हो सकती है, जो ख़िलाड़ी देश की आन-बान और शान होते हैं, उनका ये हाल होता है. ऐसे में रवीना टंडन द्वारा उठाया गया कदम सराहनीय है.

Source : storypick