इस बार की गणतंत्र दिवस परेड में कई चीजें पहली बार देखने को मिलीं, वायुसेना के दस्ते का नेतृत्व पहली बार एक महिला लेफ्टिनेंट ने किया. सालों से चली आ रही महिलाओं के अधिकारों की लड़ाई के बाद धीरे-धीरे वो समय आ रहा है, जहां हर क्षेत्र में महिलाओं की प्रतिभागिता बढ़ती जा रही है. फ़ौज में भी महिलाएं पुरुषों के साथ कंधे से कन्धा मिला कर काम कर रही हैं.

इस बार की गणतंत्र दिवस परेड में भी महिलाओं ने कई दस्तों का नेतृत्व किया. ये हैं वो महिलाएं, जिन्होंने परेड में दस्तों का नेतृत्व किया और परेड की शान में चार चांद लगा दिए.

वायुसेना दस्ते का नेतृत्व किया फ्लाइट लेफ्टिनेंट दृश्या नाथ ने. दृश्या इंजीनियरिंग की स्टूडेंट रह चुकी हैं, जो वायुसेना में शामिल होने के लिए IBM की नौकरी छोड़ कर आई हैं.

लेफ्टिनेंट आंचल दत्त ने आर्मी की झांकी का प्रतिनिधित्व किया.

कप्तान तमन्ना भसीन TSAT Vehicle की कमांडर थीं. वो बताती हैं कि उनके लिए ये बेहद गौरवपूर्ण क्षण था.

गरिमा कुल्हारी ने आकाश मिसाइल लॉन्चर की कमान संभालते हुए एयर डिफ़ेन्स की झांकी का प्रतिनिधित्व किया. वो कहती हैं कि देश की सेवा कर पाना ही उनकी सबसे बड़ी उपलब्धि है और उन्हें इस पर गर्व है.

इस साल की परेड की थीम महिला सशक्तिकरण रही. केंद्रीय विद्यालय, पीतमपुरा के छात्रों ने भी 'तिरंगा साक्षी है' गीत पर प्रस्तुति देकर महिलाओं की प्रगति को लेकर देश का उत्साह दर्शाया.

Source: Indiatimes