तनुश्री दत्ता ने नाना पाटेकर, कोरियोग्राफ़र गणेश आचार्य, प्रोड्युसर शामी सिद्दिकी, डायरेक्टर राकेश सारंग पर शारीरिक हिंसा का आरोप लगाया. एक इंटरव्यू के दौरान तनुश्री ने बताया कि 10 साल पहले Horn 'OK' Pleassss के सेट पर उनके साथ अभद्र व्यवहार किया गया. इस घटना से जुड़ा एक वीडियो भी अब सामने आया है.

तनुश्री की आपबीति को कुछ लोग पब्लिसिटी स्टंट कह रहे हैं, वहीं कुछ लोग उनका समर्थन भी कर रहे हैं.

कई घटनाओं पर अपनी बेबाक राय रखने वाली रेणुका शहाणे ने भी इस पूरे मामले पर अपनी राय रखी है. रेणुका ने फ़ेसबुक पर एक पोस्ट के ज़रिए अपनी मन की बात कही है.

'नाना पाटेकर अपने गुस्से के लिए भी उतने ही जाने जाते हैं जितने की अपने Talent और किसानों के लिए सेवा के लिए. इंडस्ट्री में कई पुरुष और महिलाएं उनके गुस्से का शिकार हो चुके हैं. मैंने नाना या तनुश्री या फिर "Horn Ok Pleassss" में काम नहीं किया. लेकिन तनुश्री की कहानी से जुड़ी कुछ बातें हैं, जो मेरे ज़हन में गुंज रही हैं:

1. तनुश्री ने ये बात साफ़ तौर पर कह दी थी कि कुछ डांस स्टेप से वो Comfortable नहीं हैं और नाना का Touch/Gesture उन्हें सही नहीं लगा. हो सकता है नाना का Intention उसे Molest करना न हो, लेकिन क्या निर्देशक या कोरियोग्राफ़र कोई ऐसा स्टेप नहीं ला सकते थे जिससे तनुश्री सहज महसूस करें? क्या Work Place लोगों को परेशान करने के लिए है? अगर किसी अभिनेत्री के Comfort Zone को ध्यान में रखकर डांस स्टेप बदले जाते तो क्या इससे फ़िल्म को कोई नुकसान होता? जिस बात से तनुश्री असहज हो गईं, हो सकता दूसरी औरतें न हो लेकिन क्या ये कोई वजह हुई कि उनके टीम के सदस्य उनके खिलाफ़ खड़े हो गए? अगर वो उन पुरुषों में से किसी की भी बेटी-जैसी थी तो वो कुछ ऐसा करते जिससे वो सहज महसूस करती या फिर कम से कम डांस स्टेप बदल देते. शायद यही फ़र्क है 'बेटी-जैसी' और 'असली बेटी' होने में!

2. 4 आदमी एक लड़की के लिए कम पड़ गए थे इसलिए राजनैतिक पार्टी के कुछ कार्यकर्ताओं को बुलाना पड़ा, तनुश्री को डराने-धमकाने के लिए. इस राजनैतिक पार्टी के सदस्यों की मांग थी कि तनुश्री 'महाराष्ट्र की शान' से माफ़ी मांगे. यक़ीन नहीं होता! क्या ये व्यवहार, जहां एक लड़की को ऐसे डांस स्टेप करने पर मजबूर किया जाता है जिसमें वो सहज नहीं है, महाराष्ट्र को गौरवान्वित करेगा या फिर लड़कियों और महिलाओं का सम्मान करके?

3. अब इस घटना के परिणाम पर बात करते हैं. किसके करियर पर इसका दुष्प्रभाव पड़ा?

किसी भी पुरुष को कोई नुकसान नहीं हुआ. उनके Ego की जीत हुई. उन पुरुषों को इंडस्ट्री का पूरा Support मिला. किसी पर इस घटना को सबसे ज़्यादा दुष्प्रभाव पड़ा तो वो है तनुश्री.

मेरे अनुसार, तनुश्री बहुत बहादुर है और वो पुरुष नहीं.'

इस पूरे मामले पर रेणुका ने काफ़ी सधी हुई बात कही है. अभी तक किसी ने कोई शिकायत दर्ज नहीं की है. जहां एक तरफ़ तनुश्री को बुरा-भला कहने वालों की फ़ौज खड़ी हुई है, वहीं दूसरी तरफ़ बहुत से लोग उनके समर्थन में भी बातें कर रहे हैं.