मच्छरों की रोकथाम और नियंत्रण के लिए दुनिया भर में लगभग एक ही तरह के तरीके प्रचलित हैं, जैसे- मच्छरदानी, कीटनाशकों का छिड़काव आदि. इनसे राहत तो ज़रूर मिलती है, लेकिन हमेशा नहीं. अब मच्छर भी बहुत चालाक हो गए हैं. वो भले ही मच्छरदानी के अंदर आपको न काट पाएं, लेकिन आपके मच्छरदानी से निकलने का बेसब्री से इंतज़ार करते रहते हैं. अगर आपने घर की दीवार पर कीटनाशक का छिड़काव करा रखा है, तो वो आपका घर के बाहर इंतज़ार करते हैं. ऐसे में मलेरिया जैसी बीमारियां होने का ख़तरा हमेशा बना रहता है.

इसी बात को ध्यान में रखते हुए मच्छरों को भगाने के लिए अमेरिका के वैज्ञानिकों ने नया तरीका बताया है. Parasites And Vectors पत्रिका में प्रकाशित हुई एक रिपोर्ट के अनुसार, रात में केवल 10 मिनट की रोशनी करने से मच्छरों के उड़ने और उनके काटने के व्यवहार को प्रभावित किया जा सकता है. ये शोध अमेरिका की University of Notre Dame के एसोसिएट प्रोफ़ेसर Giles Duffield और उनकी टीम ने किया है.

Duffield का कहना है,

'हमें मच्छरों की रोकथाम और उनके नियंत्रण के लिए नए तरीके खोजने की ज़रूरत है. हमारे पास फिलहाल जो तरीके और उपकरण हैं (जिनमें मच्छरदानी और कीटनाशक छिड़काव काफ़ी प्रचलित हैं) मच्छरों को रोकने के लिए काफ़ी नहीं हैं.'

12 घंटे तक रहता है प्रभाव

इस शोध के लिए Duffield और उनकी टीम ने मच्छरों के काटने के सबसे सक्रिय समय का परीक्षण किया. परीक्षण के परिणाम प्रभावित करने वाले थे. शोध में पाया गया कि प्रकाश की वजह से मच्छरों का उड़ना प्रभावित होता है और ये प्रभाव करीब 12 घंटे तक रहता है.

अलग-अलग रंगो के प्रकाश पर हो रहा है शोध

Source: Laserpointerpro

Duffield और उनकी टीम लाल रंग के प्रकाश की Wavelength में भी ये प्रयोग कर रहे हैं, क्योंकि लाल रंग बच्चों और वयस्कों को सोते समय कम परेशान करता है. फिलहाल यह प्रयोग सफ़ेद रंग के प्रकाश में किया गया है.

Article Source: Hindustantimes