लघु शंका और दीर्घ शंका वो दो चीज़े हैं जो वक़्त देख कर नहीं आतीं, ये कभी भी आपके पेट में आतंक मचा सकती हैं. ऐसी परिस्थिति में पुरुषों का हिसाब तो ठीक है जो किसी भी दीवार किनारे हल्के हो लेते हैं, पर ​महिलाओं के लिए ये संभव नहीं है. इसी कारण कई राज्य सरकारों ने एक नियम बनाया है कि सार्वजनिक स्थान पर महिलाएं कोई भी होटल या रेस्टोरेंट का टॉयलेट इस्तेमाल कर सकती हैं.

Source- Jdmagicbox

शायद इसी नियम से परेशान एक रेस्तरां मालिक ने अपने रेस्टोरेंट में ही शौचालय खोल लिया.

तमिलनाडु के Erode शहर में 'Rukhmani Ammal Food' ने एक ग्राहक का 11 रुपये का बिल काटा. जिसमें 10 रुपये 'टॉयलेट' के थे, 50 पैसे पार्सल चार्ज, 26 पैसे स्टेट जी.एस.टी. और 26 पैसे सेंटर जी.एस.टी. लगा.

Source- Reddit

वैसे गुरु जीएसटी तो ठीक है पर पार्सल चार्ज समझ नहीं आया. मतलब मूत्र को पैक कर के दिया होगा क्या?

Source- Reddit