कुछ दिनों पहले ही एक ख़ुश करने वाली ख़बर आयी थी, जब हैदराबाद में समोसा बेचने वाले एक व्यक्ति के बेटे की IIT-JEE (Mains) के Exam में छठी Rank आयी. अपनी अथक मेहनत के बल पर ये रैंक लेकर आने वाले मोहन अभ्यास ने IIT-JEE (Advanced) का Exam भी क्लियर कर लिया है और उसमें उसकी 64th रैंक आई है.

ये परीक्षा क्लियर करने से पहले अभ्यास अपने पिता के साथ समोसे बेचने में मदद करता था. अपनी इस जीत का श्रेय वो अपने माता-पिता और टीचरों को देता है. वो अपने Result से पहले इतना ख़ुश नहीं था, उसे विश्वास था कि उसकी रैंक 50 तक तो आएगी. हालांकि, अब वो अपनी Performance से ख़ुश है.

मोहन के पिता की आमदनी 500 रुपये प्रतिदिन है और वो उसी में पूरे परिवार की ज़रूरतें पूरी करते हैं, लेकिन उन्होंने अपने बेटे को सपने देखने और आगे बढ़ने से नहीं रोका.

मोहन अपना रोल मॉडल अब्दुल कलाम को मानता है और उन्हीं की तरह साइंटिस्ट बनना चाहता है. उसने Andhra Pradesh Engineering Agricultural and Medical Common Entrance Test (EAMCET) भी टॉप किया. उसकी फैमिली अपने छोटे से गांव से हैदराबाद सिर्फ़ इसीलिए आई थी, ताकि परिवार और बच्चों, दोनों का Future बेहतर हो सके.

इस बच्चे की ये उपलब्धि सिर्फ़ इसकी नहीं, बल्की पूरे परिवार की है.

Source: NDTV