पीरियड ब्लड को लेकर समाज में कितना Taboo है, इसका सबूत देने की ज़रूरत नहीं. इसे लेकर समाज की संकीर्ण सोच का असर महिलाओं के स्वास्थ्य पर भी पड़ता है, जब वो खुल कर अपनी समस्याओं के बारे में बात नहीं कर पाती.

सबसे बड़ी विडंबना ये है कि पीरियड्स के लिए Sanitary Napkin बनाने वाले Brands भी Ad के दौरान पीरियड ब्लड की जगह ब्लू इंक दिखाते हैं. इन छोटे-छोटे Ads से लोगों की मानसिकता पर इस हद तक असर पड़ता है कि उनके लिए पीरियड ब्लड एक एलियन चीज़ हो जाती है.

लेकिन इस Taboo को तोड़ने की पहल की सैनिटरी नैपकिन बनाने वाली कंपनी Bodyform ने. इन्होंने अपने कैंपेन #BloodNormal के ज़रिये ये बताने की कोशिश की है कि पीरियड्स में ब्लड दिखना नॉर्मल है.

इस कंपनी ने अपने कैंपेन में पहली बार रियल पीरियड ब्लड दिखाया. ये सच है, अभी तक टीवी में इससे सम्बंधित जो भी दिखाया जाता है, वो भ्रम से कम नहीं होता.

इस कैंपेन के वीडियो एक और बोल्ड सीन था, जिसमें एक आदमी को पैड लेते हुए दिखाया गया और सबसे अच्छी बात ये थी कि उस लड़के के चेहरे पर कोई अजीब भाव नहीं थे.

महिलाओं की ज़िन्दगी के इतने ज़रूरी पड़ाव को दिखाने के लिए और सही तरीके से दिखाने के लिए बधाई.

ये वीडियो आपके लिए भी ज़रूरी है!

Source: Bodyfrom Channel