जब आप देश की राजनीति में सबसे बड़ा नाम हों, तो ज़ाहिर सी बात है कि आपको लेकर कई Secrets, कई Controversy सामने आएंगी और आती रहेंगी. भारतीय राजनीति के सबसे बड़े नाम, गांधी परिवार को लेकर भी तरह-तरह की Controversy हुई, जो बड़े-बड़े भूचाल लेकर आई.

एक भूचाल और आया है, जो प्रिया सिंह पॉल लेकर आई हैं. इनका कहना है कि ये संजय गांधी की बेटी हैं. गुरुग्राम की रहने वाली 48 साल की प्रिया पॉल सिंह का कहना है कि उन्हें ये बात पूर्व प्रधानमंत्री आई.के. गुजराल की बहन विमल गुजराल ने बताई थी. उन्हें उनके परिवार से अलग रखा गया क्योंकि उन्हें कहा गया कि उनके पिता पॉलिटिक्स में हैं. प्रिया का कहना है कि कुछ सालों पहले ही जिस मां ने उन्हें गोद लिया था, उसकी मौत हुई थी.

इतने सालों बाद क्यों आई सामने?

Source: Youtube

प्रिया पॉल का कहना है कि वो पब्लिसिटी या मीडिया के लिए नहीं, बल्कि मधुर भंडारकर की आने वाले फ़िल्म, 'इंदु सरकार' की वजह से सामने आई हैं. प्रिया ने इंदु सरकार के डायरेक्टर, CBFC के हेड पहलाज निहलानी को नोटिस भेज कर पूछा है कि उन्होंने ये फ़िल्म पास कैसे कर दी. इस फ़िल्म में उनके कथित पिता, यानि संजय गांधी को ग़लत शासक के रूप में दिखाया गया है. मधुर भंडारकर की फ़िल्म, 'इंदु सरकार' इमरजेंसी के विषय पर बनी है.

'मुझे न ही किसी बात की शर्म है और न ही सत्ता की भूख, मैं सिर्फ़ अपने पिता और अपने परिवार का नाम किसी को ख़राब नहीं करने दे सकती.' ये कहना है प्रिया सिंह का. अपनी मां की मृत्यु के बाद उन्होंने अपनी जड़ें खोजनी शुरू की और पिछले साल अपने एडॉप्शन पेपर को लेकर तीस हज़ारी कोर्ट में केस फ़ाइल किया है.

इस पूरे बवाल पर मधुर भंडारकर ने कहा कि इमरजेंसी या भारतीय राजनीति के ऊपर कई किताबें छपी हैं, कई Documentary बनी, उन सभी में राजनेताओं के असली नाम लिए गए, घटनाओं का ज़िक्र किया गया,लेकिन फ़िल्मों को ये करने की इजाज़त नहीं होती. उनका कहना था कि उनकी फ़िल्म में 30 परसेंट Fact और बाक़ी 70 परसेंट फ़िक्शन है.

Source: Youtube

प्रिया का दावा अभी तक साबित नहीं हुआ है, लेकिन इसका सबसे बड़ा नुकसान, 'इंदु सरकार' को होगा. फ़िल्म 28 जुलाई को रिलीज़ होने वाली है. इस कंट्रोवर्सी की वजह से हो सकता है, इसकी रिलीज़ डेट पर असर पड़े.

Source: Asian Age