जब भी ऐसी तस्वीर मेरे सामने आती है, मेरा पारा चढ़ जाता है. क्या आपके पास ज़रा भी तमीज़ नहीं है? ये कोई मज़ाक है? सदियों से चले आ रहे नियम क़ायदे मज़ाक हैं? ये तस्वीर एक अपमान है, कलंक है. जो भी इसे शेयर कर रहे हैं, उन्हें शर्म आनी चाहिए.

Source: Jonas Tuason

इस तस्वीर के बारे Jonas Tuason क्या कहते हैं, वो भी पढ़ने लायक है, आखिर शुरुआत तो उन्होंने ही की है.