वॉशिंग्टन के वैज्ञानिक सूअरों की भ्रूण कोशिकाओं को संशोधित कर के एक एक्सपेरिमेंट कर रहे हैं, जिसके बाद इंसानों को जानवरों के अंग प्रत्यारोपित करना मुमकिन हो सकता है. Science जर्नल में ये शोध प्रकाशित हुआ है.

US की ट्रांसप्लांट वेटिंग लिस्ट में लगभग 117,000 लोग हैं, जिनका अंग प्रत्यारोपण, अंग न होने के कारण नहीं हो पा रहा है. हर दिन 22 लोग अंग न मिल पाने के कारण अपनी ज़िन्दगी से हाथ धो बैठते हैं. Harvard University के George Church और Luhan Yang ने संशोधित भ्रूण कोशिका पर एक्सपेरिमेंट किया है.

वैज्ञानिकों ने निष्क्रिय वायरल संक्रमणों को हटाने के लिए सूअरों में आनुवंशिक कोड को सफ़लतापूर्वक डाला है. इस तरह पशु से मानव अंग प्रत्यारोपण के लिए रास्ता तैयार किया जा सकता है.

बर्लिन में रॉबर्ट कॉख इंस्टीट्यूट के वायरलॉजिस्ट जोकिम डेनर ने कहा, "यदि यह सफल होता है, तो ये एक महान उपलब्धि है."

इससे पहले इंसानों को सूअरों के हार्ट वॉल्व लगाये जा चुके हैं. अब इंसानों को सूअरों के पूरे अंग लगाने के लिए वैज्ञानिक काम कर रहे हैं. अगर इसमें सफ़लता मिलती है, तो शायद अंग न मिलने पर लोगों की जान बचायी जा सकेगी.

Source: Deccanchronicle