आधार कार्ड, ये 2009 में चली एक ऐसी मुहीम थी, जिसने हर भारतीय को उसकी पहचान दे दी है. 12 अंकों के Unique Identification Number से आपका पूरा विवरण निकल सकता है. सरकारी काम की लम्बी प्रक्रिया अब छोटी हो गई है, क्योंकि ​इससे KYC यानि Know Your Customer प्रॉसेस आसान हो गया है. आपका वेरिफ़ाइड बायोमेट्रिक और डेमोग्राफिक डाटा कई चीज़ें आसान कर देता है.

Source- Intoday

लेकिन ये नंबर आपको जितनी सहूलियत दे रहा है, उतना ही आपकी पहचान को खतरे में डाल रहा है. ऐसी एक घटना सामने आई है जिसमें व्यक्ति का बायोमेट्रिक डाटा यानि तस्वीर, दस फिंगरप्रिंट्स और दो Iris स्कैन, सेन्ट्रल डाटा बेस से चुराए गए और Identity Fraud के लिए इस्तेमाल किए गए हैं. यानि पहचान आपकी और क्राइम किसी और का.

Source- BusinessEthics

जिन लोगों ने आधार कार्ड लम्बे समय से इस्तेमाल नहीं किया है, उनके पास Unique Identification Authority Of India से ईमेल आया है, कि उनका डाटा बायोमेट्रिक प्रमाणीकरण के ज़रिए निकाला गया है.

आप चाहें तो इसके शिकार होने से बच सकते हैं!

इससे पहले आपकी पहचान किसी गलत हाथ में लगे और बेगुनाह होते हुए भी आप गुनहगार बन जाएं, आप इस आसान प्रक्रिया को इस्तेमाल करके आपनी बायोमेट्रिक जानकारी को लॉक या अनलॉक कर सकते हैं.

1. UIDAI वेबसाईट के Biometric Lock पेज पर जाएं और 12 अंकों का आधार नंबर डालें.

2. अब आधार नंबर के नीचे दिया Security Code डालिए.

3. Generate OTP पर क्लिक करें, इससे आपके रजिस्टर्ड नंबर पर OTP आएगा, उसे वहां भर दें.

4. Verify पर क्लिक करें और दूसरे पेज पर Enable Biometric Locking देखें.

5. Enable बटन पर क्लिक करें और अगर आप लॉक नहीं रखना चाहते तो Disable पर क्लिक कर सकते हैं.

बस, अब आपकी जानकारी सुरक्षित है. अब जानकारी निकालने के लिए पहले आपके मोबाइल पर OTP आएगा.

Article Source- Being Indian