बच्चों का यौन शोषण करने वाला सीरियल रेपिस्ट सुनील रस्तोगी आखिरकार पुलिस की गिरफ़्त में आ गया है. सुनील बच्चियों को वीरान घरों की छतों पर ले जाकर उन्हें अपने सामने नए कपड़े पहनने को कहता था और मना करने पर उन्हें छत से फेंक देने की धमकी देता था.

उत्तराखंड के रुद्रपुर का रहने वाला सुनील, महीने में दो बार दिल्ली आया करता था और यहां बच्चों का यौन शोषण करता था. इस मामले से जुड़ी कई अजीबोग़रीब बातें सामने आयी हैं. सुनील हमेशा संपर्क क्रांति से दिल्ली आता था और अपने मंसूबों को लाल जैकेट और नीली जींस पहन कर अंजाम देता था. वो इसे अपना लकी चार्म मानता था.

वो स्कूलों के आस-पास घूमता और 7-11 साल के बच्चों को अपना शिकार बनाता था. 13 सालों तक वो ये करता रहा और कभी पकड़ा नहीं गया. इस शनिवार को न्यू अशोक नगर में दो नाबालिगों का रेप करने के जुर्म में उसे पुलिस ने गिरफ्तार किया.

सुनील तीन बच्चों का पिता है. वो अब तक लगभग 10 लड़कियों का रेप कर चुका है. वो पहले बच्चों का दूर से ही पीछा करता और मौका मिलते ही उन्हें किसी सुनसान जगह पर ले जाकर उनके साथ दरिंगी करता है. वो बच्चियों से कहता था कि वो उनके पिता का दोस्त है, उन्हें नए कपड़े और खाने-पीने की चीज़ें देकर वो उन्हें बुलाता था.

Source: Tribune

2004 तक वो दिल्ली में ही रहता था. उसे 2006 में भी पुलिस ने गिरफ्तार किया था पर वो बेल पर छूट गया. जब दिल्ली में पुलिस को तीन एक जैसी शिकायतें मिलीं, तो जांच में पता चला कि ये एक ही आदमी है, जो बच्चों के साथ हैवानियत कर रहा है. गिरफ़्तारी के बाद रस्तोगी ने कहा कि उसे यकीन नहीं हो रहा है कि उसका खेल ख़त्म हो गया है, उसे लगता था कि वो कभी पकड़ा नहीं जाएगा.