बेबी डॉल ने सही कहा है, ये दुनिया पित्तल दी.

वरना कौन सी लड़की खुश हो कर ब्यूटी पार्लर जाती है?

हमारे ऊपर दुनिया वालों ने Tip-Top दिखने का इतना प्रेशर डाल दिया है कि महीने में एक ट्रिप यहां की न मारें, तो दुनिया हमारा असली रूप देख कर डर जाए.

वैसे पार्लर जाने से इतना डर नहीं लगता, जितना पार्लर का दरवाज़ा खुलते ही, उस चमचमाते चेहरे, प्लास्टिक सी हंसी लिए, बाजू ऊपर करे हुए पार्लर वाली आंटी से लगता है. ये वो हैं, जिन्होंने अच्छी-खासी लड़कियों को ढेर किया है, कईयों को रुलाया है. इनसे न तो आप पंगे ल सकती हैं और न ही फ़ालतू बोल सकती हैं, क्योंकि काम इन्हीं से ही पड़ना है.

आपने ही तो बनाई थी...

अब क्या बालों को उगने से मना कर दूं?

हर बार आपके पास आकर 500 का पत्ता नहीं उड़ाया जाता!

जब ग़लती से बोल दो कि हेयर ग्रोथ ज़्यादा है...

पैसे ऐंठने के सारे पैंतरे पता है. कौन सी लड़की Rico के लिए मना करेगी?

आपकी ज़रा सी चूक, और ये लगा आंटी का चौका

कुछ भी कर लो, हेयर कट में 100 रुपये जोड़ ही देंगी.

इन बालों ने ही तो आंटी का दिवाली बोनस निकाला है. फ़ायदा फिर भी नहीं हुआ.

मैंने Trim करने को कहा था.

-Feeling Angry with 99 Others

Look चेंज करने को कहा था, ऐसा नहीं कि मैं ख़ुद डर जाऊं.

ताकि तुम हाथ की सफ़ाई कर लो, चालाक औरत!

भगवान की दी हुई चीज़ है, कोई Problem?

हां, मैं कोयले की खान में काम करती हूं.

किलो भर मेकअप पोत दिया और अभी भी Light लग रहा है?

जब ग़लती से आप शादी में जाने के लिए इनके पास चले जाओ.

ख़बर पूरी रखती है.

मुझे अपने बाल इतने बुरे कभी नहीं लगे.

Marketing में MBA कर के आई हैं मैडम!

क्या???

कुछ ऐसी ही है न आपकी पार्लर वाली आंटी भी?

Gazab Illustrations By: Puneet Gaur Barnala