नवरात्री में गरबा करने की परंपरा है, जिसके कारण कई बार ध्वनी प्रदूषण होता है. लेकिन मुंबई की एक गरबा पार्टी ने इसका भी उपाय निकाल लिया है. वहां ‘Silent Garbas’ का आयोजन किया जा रहा है, जहां लोग हेडफ़ोन्स लगा कर गरबा करते हैं.

देखिये कैसे बिना किसी शोर-शराबे के लोग गरबे का आनंद ले रहे हैं.

इस पार्टी में 11 बजे तक सामान्य तरीके से गाने बजाये गए और उसके बाद लोगों ने हेडफ़ोन्स लगा कर गरबा किया.

'ऐ दिल है मुश्किल; फ़िल्म में भी आपने ऐसी पार्टी देखी होगी. साइलेंट डिस्को का कॉन्सेप्ट विदेशों में भी काफ़ी प्रचलित है.

राजमहल बैंक्वेट्स के अबोली आनंद ने बताया कि इन हेडफ़ोन्स में बजने वाले हर गाने को प्ले करने पर किसी एक रंग की लाईट जलती है. अगर लोग एक ही गाने पर नाचना चाहें, तो लाईट को देख कर कोआर्डिनेट कर सकते हैं.

है न दिलचस्प?