करणी सेना और राजपूत समूहों के विरोध की वजह से फ़िल्म 'पद्मावती' रिलीज़ होने से पहले ही कई राज्यों में बैन हो गई है. दिनों-दिन इस फ़िल्म को लेकर विवाद भी बढ़ता जा रहा है. गुरुवार सुबह ही इस मामले ने उस वक़्त उग्र रूप धारण कर लिया, जब नाहरगढ़ किले की दीवार से एक व्यक्ति का शव लटका कर किसी सिरफिरे ने चेतवानी लिख डाली.

इस मुद्दे पर बॉलीवुड भी एक हो कर फिल्म डायरेक्टर संजय लीला भंसाली के साथ खड़ा होता हुआ दिखाई दे रहा है. ख़ैर, इन सब विवादों के बीच सिमी ग्रेवाल के रूप में उम्मीद की एक किरण दिखाई दे रही है. ख़बरों के मुताबिक, सिमी ग्रेवाल और रानी पद्मिनी की दोस्ती काफ़ी पुरानी है और फ़िल्म 'पद्मावती' के मुद्दे पर सिमी ने हाल ही में रानी से मुलाक़ात भी की. इस मुलाक़ात से कयास लगाया जा रहा है कि ये विवाद जल्द ही सुलझ जायेगा, क्योंकि रानी पद्मिनी करणी सेना के बीच भी काफ़ी सम्मानित हैं.

Source: NDTV

इस मुलाक़ात के बारे में सिमी ने बताया कि वो खुद भी संजय लीला भंसाली की बहुत बड़ी फ़ैन रही हैं और उनकी फ़िल्में पसंद करती हैं. एक घंटे चली इस मुलाक़ात में उन्होंने इस फ़िल्म को ले कर कई बातें की, जिसमें उन्होंने बताया कि उन्हें फ़िल्म के 'घूमर' गाने से दिक्कत है, क्योंकि जिस तरह से रानी को लोगों के बीच में नाचता हुआ दिखाया गया है, वैसा रानी कभी नहीं करती थी.

Source: indulexpress

मीडिया से मुख़ातिब होते हुए सिमी ने कहा कि 'रानी इस मुद्दे पर संजय लीला भंसाली से मिलना चाहती हैं, जिसमें वो उनसे फ़िल्म की प्राइवेट स्क्रीनिंग करने को कहेंगी. एक बार फ़िल्म को देख कर यदि रानी इसे अनुमति दे देती हैं, तो ये प्रदर्शन अपने आप खत्म हो जायेंगे.'

ख़ैर, कई दिनों बाद ही सही 'पद्मावती' फ़िल्म को ले कर ये ख़बर वाकई राहत देने वाली है.

Source: thequint