आजकल सबकुछ ऑनलाइन मिल जाता है. एक सुई से लेकर बगीचे के पेड़-पौधे तक सब चीज़ों से सिर्फ़ एक क्लिक की दूरी रह गई है.

इन सबके अलावा घर के छोटे-छोटे काम जैसे कि बिजली, लकड़ी आदि के लिए भी इंटरनेट का दरवाज़ा खटखटाया जा सकता है.

सिर्फ़ बढ़ई, प्लंबर या बिजली मिस्त्री ही नहीं, कई ऐसी वेबसाइट्स भी हैं जो 'ऑनलाइन Maids' भी उपलब्ध करवाती हैं.

भारत की तरह सिंगापुर में भी Online Maid Employment Agencies काम करती हैं. सिंगापुर में लगभग 250,000 Maids काम करती हैं. इनमें से ज़्यादातर महिलाएं इंडोनेशिनया, मिडिल ईस्ट, मलेशिया के ग़रीब इलाकों से ही होती हैं.

Online Maid Employment Agency Carousell के एक विज्ञापन पर लोगों का गुस्सा फूट पड़ा है. इस विज्ञापन को जातिवाद को बढ़ावा देने वाला बताया गया है. विज्ञापन में विशेष तौर पर इंडोनेशिया, म्यांमार और फ़िलीपीन्स की Maids उपलब्ध करवाने की बात कही गई है.

इंडोनेशिया के NGO Migrant Care ने इस विज्ञापन को 'अनैतिक और Demeaning' क़रार दिया.

सिंगापुर की Labor Ministry ने मामले पर ग़ौर करते हुए, जिस एजेंसी( SRC Recruitment LLP) ने ये विज्ञापन दिया था, उसका लाइसेंस कैंसल कर दिया. इसके साथ ही Carousell को तत्कालीन तौर पर विज्ञापन हटाने की आज्ञा दी.

Employment Agencies मंत्री Kevin Teoh ने मामले पर कहा,

जो भी एजेंसी Domestic Helpers का ऐसा विज्ञापन डालती हैं, हम उनकी आलोचना करते हैं.

एक फ़ेसबुक पोस्ट के ज़रिए Manpower मंत्री Josephine Teo ने कहा कि विज्ञापन काफ़ी झकझोर देने वाला है.

बहुत से लोगों के लिए विदेशों से आने वाले Domestic Helpers हमारे परिवार का हिस्सा हैं. हमें उन्हें सम्मान देना चाहिए.

घर में काम करने वाली Maids के साथ बुरा व्यवहार अपने देश में भी किया जाता है. जिस तरह सिंगापुर ने इस विषय पर संज्ञान लिया है, उससे हमें कुछ सीखना चाहिए.

Source: NDTV