भागती-दौड़ती ज़िन्दगी थकना मना हो या ना हो, सोना ज़रूर मना हो गया है. कुछ लोगों की तो सुबह और रात दोनों ऑफ़िस में ही होती है. ऐसे लोग बड़े ही शान से कहते हैं कि 4 घंटे सोकर भी वो आराम से काम कर सकते हैं. ऐसी आदत वालों को फिर नींद ना आने की बीमारी हो जाती है.

Source: Medical Daily

नींद ना आना, आजकल बहुत ही आम समस्या बन गई है. Coffee पी-पीकर आपने खुद को इतना जगा लिया है कि अब आपका शरीर सोना ही भूल गया है.

एक स्टडी में पता चला है कि कम सोना आपके शरीर के लिए उतना ही हानिकारक जितना कि ज़्यादा शराब पीना. यानि कि एक शराबी और नहीं सोने वाले के शरीर को एक समान ही नुकसान पहुंचता है.

Source: The toc

डिजिटल हेल्थ कंपनी, Medisys द्वारा किए गए रिसर्च के अनुसार, रात में 6 घंटे से कम सोने से मोटापा बढ़ने, डिप्रेशन, Heart Attack और Stroke का ख़तरा बढ़ जाता है.

18 घंटे तक जगे रहने से Cognitive Impairment भी हो सकता है. Cognitive Impairment होने से किसी भी व्यक्ति की स्मरण शक्ति प्रभावित होती है. ऐसे व्यक्ति को Concentrate करने में भी दिक्कतें आती हैं. ज़्यादा देर तक जागने से, आपका दिमाग़ Stable नहीं रहता और जहां Focus करना चाहिए, वहां Focus नहीं कर पाता.

Source: A Nation of Thinkers

शोधकर्ताओं ने ये भी बताया कि नहीं सोने वाले या कम सोने वाले लोग बहुत बुरे ड्राइवर्स होते हैं और ऐसे लोग अगर ड्राईव करें तो ये उतना ही ख़तरनाक है जितना की शराब पीकर गाड़ी चलाना.

आपके शरीर की Proper Functioning के लिए सोना बेहद ज़रूरी है. जो नहीं सोते उन्हें भूख भी कम लगती है. सोना Hunger Influencing Hormones के Functioning के लिए ज़रूरी है और जो नहीं सोते उनके शरीर में ये Hormones ठीक से काम भी नहीं करते.

Source: All News

शराबी की शरीर की क्या हालत होती है ये तो जानते ही होगे. तो न सोने की आदत को बदल डालो.

Source: India Times

Feature Image Source: Zanbil