हिमाचल प्रदेश की स्पीती घाटी में किब्बर नाम का एक छोटा सा गांव है. यहां से आपको हिमालय के सबसे मोहक दृश्य देखने को मिलेंगे. पर्वतों के पास बसे होने के कारण, इस गांव में अकसर पहाड़ी तेंदुए आते रहते हैं.

ये प्राणी छोटे जानवर, जैसे भेड़ और बकरी खाते हैं. यही कारण है कि गांव के लोगों के लिए इनका आना नुकसानदायक होता है. ये उनके मवेशियों के लिए खतरा साबित होते हैं. लेकिन ये जानवर इतना खूबसूरत होता है कि किसी नेचर फ़ोटोग्राफ़र के लिए इसको कैमरे में कैद कर पाना, बड़े ही गर्व की बात होती है.

इस गांव के लोगों को एक पहाड़ी तेंदुआ दिखाई दिया. वो बहुत बूढ़ा और बीमार लग रहा था. उन्हें उसका बच पाना मुश्किल लग रहा था. उसे बचाने की कोशिश में गांव के लोगों ने उसे अपने मवेशी दिए, ताकि वो ज़िन्दा रह सके.

इस समय में, जब लोग स्वस्थ जानवरों को भी मारने की फिराक़ में रहते हैं, वहां गांव के लोगों ने एक सराहनीय उदाहरण पेश किया है. आम तौर पर लोग इन्हें अपना दुश्मन समझते हैं, पर गांव वालों ने उसे बचाने का हर संभव प्रयास कर डाला.

हालांकि, इतने प्रयास करने के बाद भी वो तेंदुए की जान नहीं बचा पाए. वन अधिकारियों ने तेंदुए का मृत शरीर वापस गांव भेज दिया. यहां भी गांव वालों ने उसका क्रियाक्रम किया, जैसे वो उनके बीच का ही कोई सदस्य हो.

आज दुनिया में हर तरफ नफ़रत फ़ैल रही है, पर कुछ लोग ऐसे भी हैं, जो जानवरों को भी इंसानों सा प्यार देना जानते हैं.

Source: Topyaps