देखते ही देखते 2017 को 'Good Bye' और 2018 के 'Welcome' का समय आ गया. रेस्टोरेंट और मॉल से लेकर क्लब तक हर जगह नए साल की तैयारियां देखी जा सकती हैं. वैसे कभी आपने ये सोचा है कि हम नया साल एक जनवरी को ही क्यों सेलिब्रेट करते हैं? एक दिसबंर, एक फरवरी या फिर एक मार्च को क्यों नहीं. दरअसल, एक जनवरी को नया साल मनाने की पीछे कई मान्यताएं और वजहें हैं.

ऐसा माना जाता है कि जनवरी महीने का नाम भगवान 'जानूस' के नाम पर रखा गया है. रोमन कैलेंडर के अनुसार, 'जानूस' के दो मुंह मुख थे, एक आगे की ओर, दूसरा पीछे की ओर. इतना ही नहीं, कहा जाता है कि दो मुख होने की वजह से 'जानूस' को बीते हुए कल और आने वाले कल दोनों के बारे में पता रहता था.

ऐसा नहीं है कि एक जनवरी से नया साल मनाने की सिर्फ़ एक यही वजह है, इसके अलावा भी कई अलग-अलग कारणों से नया साल एक जनवरी को सेलिब्रेट किया जाता है.

1. कहा जाता है कि रोम के बादशाह जूलियर सीजर ने 45 ईसा पूर्व जूलियन कलैंडर की स्थापना की थी, तब से लेकर अबतक दुनियाभर के ज़्यादातर हिस्सो में 1 जनवरी को ही नया साल मनाया जाता है.

2. कैलेंडर की स्थापना से पहले लोग इस बात से भी अंजान थे कि एक जनवरी को वर्ष की शुरुआत के पीछे एक खगोलीय तर्क भी है.

3. दरअसल, इस दौरान पृथ्वी अपने कक्ष के आस-पास घूमती है, जिस वजह से वो सूर्य के बेहद करीब होती है. इस घटना को ग्रहांक कहा जाता है, इसके साथ नई शुरुआत को चिन्हित करने का एक कारण ये भी है.

4. 1 जनवरी को नया साल सेलिब्रेट करने का एक तार्किक कारण ये भी है कि दिसंबर का आखरी दिन साल का सबसे छोटा दिन होता है, उसके बाद आने वाले दिन लंबे होते हैं.

5. पहला न्यू ईयर सेलिब्रेशन 23 मार्च 2000 BC में मनाया गया था.

6. वहीं दुनिया के कई देश ऐसे हैं जहां नया साल एक जनवरी को नहीं, बल्कि 20 मार्च को मनाया जाता है. Egyptians, Phoenicians, और Persians 20 सितबंर के आस-पास नये साल की शुरुआत करते हैं, जबिक Greeks में 20 दिसबंर के करीब नए साल का उत्सव मनाया जाता है.

भारत में जूलियर कैलेंडर फ़ॉलो किया जाता है, पर क्योंकि भारत एक सांस्कृतिक देश है इसीलिए यहां के कई राज्यों में नया साल को एक त्योहार के रूप में सेलिब्रेट करते हैं. जैसे तेलुगू कलैंडर में उगाड़ी के मौके पर नया साल मनाया जाता है. वहीं महाराष्ट्र और गोवा में गुड़ीपावा पर नये साल की शुरुआत होती है और उत्तरी राज्यों जैसे कि पंजाब में वैशाखी के मौके पर नया साल मनाया जाता है.

Happy New Year!

Source : indiatimes

Feature Image Source : India.com