हाल ही में अनुराग कश्यप, ज़ोया अख़्तर, दिबाकर बैनर्जी और करण जौहर की 'Lust Stories', Netflix पर इसी 15 जून को रिलीज़ हुई है. 'Lust Stories', 4 अलग-अलग शॉर्ट फ़िल्म्स का एक संकलन है. इस फ़िल्म की चर्चा इसलिए हो रही है क्योंकि इसमें स्वर कोकिला लता मंगेशकर के एक बहुत ही सुरीले गाने का ग़लत सीन में इस्तेमाल किया है. इस बात से मंगेशकर फ़ैमिली बहुत दुखी हुई है.

Source: huffingtonpost

'Lust Stories', जिसमें एक महिला के दृष्टिकोण से Lust (वासना) और Sex (सेक्स) के बारे में बात की गई है. इस फ़िल्म की समीक्षा में ख़ासतौर पर करण जौहर की द्वारा डायरेक्ट की गई शॉर्ट फ़िल्म की लोगों ने कड़ी निंदा की है. इसमें एक महिला के ऑर्गास्म तक पहुंचने के दौरान 'कभी ख़ुशी, कभी ग़म' के टाइटल ट्रैक को बैकग्राउंड म्युज़िक को इस्तेमाल किया गया है. और वास्तव में ये अत्यधिक हास्यजनक क्षण है.

भले ही करण जौहर की इसके लिए काफ़ी प्रशंसा भी की गई है. लेकिन Sexual Context में इस ट्रैक के उपयोग ने पेडर रोड पर स्थित घर में रहने वाले मंगेशकर परिवार को स्पष्ट रूप से परेशान कर दिया है. अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर वो परेशान क्यों हैं? उनका परेशान होना लाज़मी है क्योंकि लता मंगेशकर ने कभी ख़ुशी कभी ग़म के इस टाइटल ट्रैक को गाया था.

Source: bollywoodhungama
Bollywood Hungama से बात करते हुए, मंगेशकर फ़ैमिली के एक सदस्य ने कहा, 'हमें आश्चर्य है कि उन्हें फ़िल्म की हीरोइन को ऑर्गैस्मिक अवस्था में दिखाने के लिए एक भजन जैसे गाने को, जिसे एशिया की सबसे सम्मानित आवाज़ ने गया है, का उपयोग करने की आवश्यकता क्यों थी. वो कोई और गाना भी तो इसके लिए चुन सकते थे.'

इस स्थिति से मंगेशकर परिवार इस कदर अनजान रहा कि उन्होंने मीडिया और ख़बरों से महान गायिका को फ़िलहाल के लिए दूर कर दिया है.

इसके अलावा परिवार के सदस्य ने कहा, 'करण जौहर ने इतनी शर्मनाक स्थिति में लता दीदी के बेहतरीन गीत का उपयोग क्यों किया? मुझे अभी भी याद है कि करण तब कितना उत्साहित था, जब दीदी ने कभी खुशी कभी ग़म के लिए ये गीत रिकॉर्ड किया था. उस वक़्त करन ने कहा था कि ये एक सपना सच था. और अब इस सपने को एक दुःस्वप्न में क्यों बदल दिया उन्होंने?'

वैसे भी कभी ख़ुशी कभी Cum? मंगेशकर्स के लिए नहीं है...

Feature Image Source: twimg

Story Source: huffingtonpost