अब तक का सबसे बड़ा सवाल, 'शादी कब करोगे यार'. बचपन से लेकर बड़े होने तक हम न जाने कितनी बार ये शब्द सुन चुके होते हैं. शादी के बारे में कहावत तो सभी ने सुन ही रखी होगी, अगर नहीं सुनी, तो हम बता देते हैं: 'शादी का लड्डू जो खाए, वो पछताए, जो न खाए, वो भी पछताए'. शादी हमारे जीवन का ऐसा सच है, जिसे हर शख़्स को अपनाना ही पड़ता है.

वहीं कुछ लोगों को किसी भी तरह के बंधन में बंधना पंसद नहीं होता, लेकिन न चाहकर भी उन्हें शादी करनी पड़ती है. वैसे दुनिया बहुत बड़ी है, तो ज़ाहिर सी बात है कि इसमें बसने वाले लोग भी तरह-तरह के होंगे. एक वो जिन्हें रिश्तों की डोर में बंधना पंसद होता है. दूसरे वो, जिन्हें ख़ुद से इतना प्यार होता है कि वो अपनी ज़िंदगी को बिना किसी बंधन के जीना चाहते हैं.

ऐसे ही ख़ास किस्म के लोगों के लिए एक ख़ास ट्रेंड चलन में है. इस ट्रेंड के मुताबिक, लोग किसी और से शादी करने बजाए अपने आप से शादी कर रहें हैं. सुनने में भले ही आपको ये मज़ाक लगे, लेकिन हकीकत यही है. इस नए ट्रेंड को 'Sologamy' कहा जाता है.

इस ख़ास तरह के चलन के लिए MarryYourself और IMarriedMe.com वेबसाइट्स भी बनाई गई हैं. Canada और San Francisco के बाहर ये वेबसाइट्स Sologamy Kits, Wedding Bands, Affirmation Cards और Vows भी उपलब्ध कराती हैं.

CBS के मुताबिक, New York के Brooklyn की रहने वाली 37 साल की Erika Anderson का कहना है 'मुझे लगता है कि हमें पूरा होने के लिए किसी के साथ की ज़रूरत नहीं है, इसीलिए मैं महिलाओं से कहना चाहूंगी कि शादी के लिए ख़ुद को हां कहें.'

इस बारे में Sophie Tanner कहती हैं कि 'Self-Wedding किसी तरह का मज़ाक नहीं है. हम इसे मशहूर करना चाहते हैं, जो लोग ख़ुद से भावनात्मक रूप से जुड़े हुए हैं, वो किसी और से शादी करने के लिए प्रतिबद्ध नहीं हैं.'

कानूनी तौर पर इस तहर की शादियों पर किसी तरह का प्रतिबंध नहीं है. जो लोग ख़ुद से बहुत प्यार करते हैं और अकेले ही अपनी ज़िंदगी को जीना चाहते हैं, वो इस ट्रेंड को अपना कर ख़ुशी-ख़ुशी अपनी ज़िन्दगी जी सकते हैं.

आप भी कुछ ऐसा ही सोच रहे हैं?