राष्ट्रीय स्तर की क्रिकेट ख़िलाड़ी और उसके भाइयों के बीच का विवाद घर से निकल कर थाने पहुंच चुका है. महिला क्रिकेटर के आरोप के मुताबिक़, उसके भाइयों ने उसे खेल न छोड़ने पर गोली मारने की धमकी दी है.

मामला सोनीपत जिले के गांव देवड़ का है. दरअसल, 22 वर्षीय पीड़ित खिलाड़ी का कहना है कि वो बीए द्वितीय वर्ष की छात्रा है, पढ़ाई के साथ-साथ वो हरियाणा की अंडर-19 टीम का हिस्सा भी है. FIR के मुताबिक, 'वो खेलना चाहती है, पढ़ना चाहती है' पर उसके भाई उसे घर से बाहर नहीं निकलने देना चाहते. आगे बताते हुए पीड़िता ने कहा कि उसके भाईयों ने उसे परेशान किया कि मजबूरन उसे अपना कॉलेज छोड़ना पड़ा.

Image Source : ndtv
शिकायत में महिला ने ये भी कहा कि 'जब भी मैंने भाईयों से आगे पढ़ने और खेलने की इच्छा ज़ाहिर की, उन्होंने मेरी इच्छाओं का दमन कर दिया. यहां तक कि दोबारा कॉलेज जॉइन करने की बात पर मेरे छोटे भाई ने मुझे जान से मारने की धमकी तक डे डाली.'

खिलाड़ी ने बताया कि उसके भाई अकसर उसके साथ मारपीट करते हैं. ये बात उसने कालेज के अध्यापकों को भी बताई, लेकिन कोई भी उसकी मदद के लिए आगे नहीं आया. भाईयों के अत्याचार से पीड़ित खिलाड़ी इतनी डरी हुई है कि उसने भाईयों से दूर रह कर पढने व खेलने की इच्छा ज़ाहिर की है.

Image Source : artisticocali2015

मामले को संज्ञान में लेते हुए पुलिस ने दोनों भाईयों के खिलाफ़ धारा 506 और 34 लगाते हुए, मुक़दमा दर्ज कर लिया है.

थाना सदर प्रभारी दलबीर ने बताया कि बीते रविवार को लड़की हमारे पास शिकायत लेकर आई थी, जिसके बाद हमने उसके भाईयों को ये समझा कर छोड़ दिया कि लड़की को उसकी मर्ज़ी से खेलने और पढ़ने दिया जाए, लेकिन दो दिन बाद वो फिर से हमारे पास अपने भाईयों की शिकायत लेकर आई. इसके बाद हमने मामले में मुकदमा दर्ज कार्रवाई शुरू कर दी है.

Article Source : Hindustan