'मेरी आशिक़ी अब तुम ही हो', 'सनम रे', 'मैं फिर भी तुमको चाहुंगा' इन गानों को Pick-Up Line की तरह कई आशिक़ों ने इस्तेमाल किया होगा. कुछ ख़ुशनसीबों की आशिक़ी मुक़म्मल भी हो गई होगी.

दिल को छू लेने वाले इन गानों के अल्फ़ाज़ कभी-कभार दिमाग़ से निकल जाते हैं, लेकिन इनकी धुन ज़हन में ही रहती है. इश्क़ से सराबोर इन गानों को धुनों से सजाने वाले हैं, मिथुन शर्मा, जो मिथून नाम से फ़ेमस हैं.

मुंबई में संगीतकारों के घर में पैदा हुए मिथुन. दादा, पंडित राम प्रसाद शर्मा ने हज़ारों छात्रों को संगीत सिखाया, जिनमें से कई आज नाम कमा रहे हैं.

कंपोज़र जोड़ी, लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल के प्यारेलाल, मिथुन के चाचा हैं. संगीत कहीं न कहीं उन्हें विरासत में ही मिली.

Source- Asianage

11 वर्ष की आयु से ही उन्होंने संगीत की तालीम लेना शुरु कर दिया था. पिता, Musical Arrangements करते थे, व्यस्तता के बावजूद मिथुन पर कड़ी निगाह रखते थे. करियर के शुरुआत में मिथुन ने दो गाने Recreate किए, 'ज़हर' का 'वो लम्हे' गाना और 'कलयुग' का 'आदत'. ये गाने आज भी कई फ़ोन्स की प्लेलिस्ट का हिस्सा हैं.

मिथुन ने 'बस एक पल' फ़िल्म के टाइटल ट्रैक के साथ बॉलीवुड में मेजर ऐंट्री की. इसी फ़िल्म के गाने 'तेरे बिन' को मिथुन, प्रीतम और विवेक ने मिलकर कंपोज़ किया था.

मिथुन की धुनों से आशिक़ी बरसती है, हम एहसासों को लफ़्ज़ों में पिरोने में नाक़ामयाब हो सकते हैं, पर मिथुन के ये गाने उसकी भरपाई कर देंगे.

1. सनम रे, फ़िल्म- सनम रे

इस गाने के बोल और धुन दोनों मिथुन के हैं.

2. तेरे बिन, फ़िल्म- बस एक पल

सईद क़ादरी और अमिताभ वर्मा ने ये ख़ूबसूरत गाना लिखा है.

3. फिर मोहब्बत करने चला है तू, फ़िल्म- मर्डर 2

इस फ़िल्म के गाने 'ऐ ख़ुदा' को भी मिथुन ने ही कंपोज़ किया है.

4. तुम ही हो, फ़िल्म- आशिक़ी 2

बिना लुप पर सुने मन नहीं मानता.

5. हमनवा, फ़िल्म- हमारी अधुरी कहानी

आंख बंद करके इस गाने को सुने, पापोन की आवाज़ रुह तक जाती महसूस होगी.

6. शुक्र तेरा, फ़िल्म- समराट ऐंड को.

अगर अभी तक ये गाना नहीं सुना तो आज ही सुनें, चिनमयी की आवाज़ में जादू है. इस गाने के लफ़्ज़ भी मिथुन के ही हैं.

7. बारिश, फ़िल्म- यारियां

फ़िल्म जैसी भी हो उसके कुछ गानों को तो जवाब नहीं.

8. ये कसूर मेरा है, फ़िल्म- जिस्म 2

सोनू कक्कड़ की ख़ूबसूरत आवाज़ और मिथुन के अल्फ़ाज़.

9. मदनो, फ़िल्म- लम्हा

ये फ़िल्म शायद याद ना हो, पर ये गाना बहुत प्यारा है.

10. हमदर्द, फ़िल्म- एक विलन

इस गाने को भी मिथुन ने ही लिखा है.

11. तू ही मेरे रब की तरह है

सुनकर देखिये आपको अच्छा लगेगा.

इनमें से जो गाना आपको सबसे ज़्यादा पसंद आया उसके बारे में कमेंट बॉक्स में ज़रूर बताइये.