भारत में सिर्फ़ क्रिकेट ही नहीं अन्य खेल भी खेले जाते हैं. बावजूद इसके हमारे देश में क्रिकेटरों को ही सबसे ज़्यादा प्यार मिलता है. भारत में कई ऐसे खेल भी खेले जाते हैं जिनके हम चैम्पियन हैं, लेकिन हम भारतीयों को उन खेलों के स्टार खिलाड़ियों के नाम भी नहीं मालूम. 

आज हम आपको भारत के 10 ऐसे ही होनहार खिलाड़ियों के बारे में बताने जा रहे हैं जो अपनी-अपनी फ़ील्ड के मास्टर है. लेकिन इन्हें जो मान-सम्मान और पहचान मिलनी चाहिए थी वो मिली नहीं-   

1- पी.आर. श्रीजेश (हॉकी) 

हॉकी भारत का राष्ट्रीय खेल है, बावजूद इसके शायद ही हमें भारतीय हॉकी टीम के 5 खिलाड़ियों के नाम भी सही से मालूम हों. पी.आर श्रीजेश भारतीय हॉकी टीम के गोलकीपर है. श्रीजेश दुनिया के सबसे बेहतरीन गोलकीपर में से एक हैं. वो भारतीय टीम के कप्तान भी रह चुके हैं. 

2- नीरज चोपड़ा (जैवलिन थ्रो) 

नीरज जैवलिन थ्रोवर एथलीट हैं. अंजू बॉबी जॉर्ज के बाद किसी विश्व चैम्पियनशिप के दौरान एथलेटिक्स में स्वर्ण पदक जीतने वाले नीरज दूसरे भारतीय हैं. नीरज ने 85.23 मीटर भाला फेंककर 2017 ‘एशियाई एथलेटिक्स चैम्पियनशिप’ में गोल्ड मेडल और साल 2018 में ‘राष्ट्रमण्डल खेलों’ में 86.47 मीटर भाला फेंककर गोल्ड मेडल अपने नाम किया था. 

3- दीपिका कुमारी (आर्चरी) 

दीपिका कुमारी भारत की नंबर वन जबकि दुनिया की नंबर 5 की आर्चरी प्लेयर हैं. दीपिका दुनिया की नंबर वन आर्चरी प्लेयर भी रह चुकी हैं. साल 2010 ‘कॉमनवेल्थ गेम्स’ में उन्होंने गोल्ड मेडल जीता था. 

4- शिवा थापा (बॉक्सिंग)

असम के रहने वाले शिवा थापा ओलम्पिक में क़्वालीफ़ाई करने वाले भारत के सबसे युवा बॉक्सर हैं. 25 साल के शिवा तीसरे भारतीय बॉक्सर हैं जिन्होंने ‘एशियन गेम्स’ में देश के लिए गोल्ड मेडल जीता है. 

5- रानी रामपाल (हॉकी) 

इस नाम से शायद ही कोई वाकिफ़ हो, जिन्हें नहीं मालूम उन्हें बता दें कि रानी रामपाल भारतीय महिला हॉकी टीम की कप्तान हैं. क्रिकेट में जो मुकाम आज विराट कोहली का है वही मुकाम महिला हॉकी में रानी रामपाल भी रखती हैं. 

6- गुकेश डी (शतरंज) 

तमिलनाडु के गुकेश डी सबसे कम उम्र में चेस ग्रैंडमास्टर बनने वाले दुनिया के दूसरे सबसे युवा खिलाड़ी हैं. गुकेश ने 12 साल, 7 महीने और 17 दिन में ये उपलब्धि हासिल की है. गुकेश इसी साल मार्च में भारत के सबसे युवा ग्रैंडमास्टर बने हैं.   

7- जीव मिल्खा सिंह (गोल्फ़) 

‘फ़्लाइंग सिख‘ मिल्खा सिंह के बेटे जीव मिल्खा सिंह भारत के नंबर एक गोल्फ़ प्लेयर हैं. भारत में गोल्फ़ इतना पॉपुलर नहीं है, लेकिन जीव मिल्खा सिंह दुनिया के बेहतरीन गोल्फ़ प्लेसर्स में से एक हैं. जीव यूरोपियन टूर में 4 टाइटल, एशियन टूर में 6 टाइटल, जापान गोल्फ़ टूर में 4 टाइटल जबकि अन्य 7 टाइटल जीत चुके हैं. 

8- विनेश फोगाट (रेसलिंग) 

गीता, बबिता के बाद उनकी छोटी बहन विनेश फोगाट भी कुस्ती में माहिर हैं. विनेश साल 2014 और साल 2018 ‘कॉमनवेल्थ गेम्स’ में गोल्ड मेडल जबकि साल 2018 ‘एशियन गेम्स’ में देश के लिए गोल्ड मेडल जीत चुकी हैं. 

9- अजय ठाकुर (कबड्डी) 

अजय ठाकुर वर्तमान में भारत के सबसे बेहतरीन कबड्डी खिलाड़ी हैं. अजय साथ ही भारतीय कबड्डी टीम के कप्तान भी हैं. वो साल ‘2016 कबड्डी वर्ल्ड कप’ जीतने वाली टीम का हिस्सा भी रह चुके हैं. उनकी मौजूदगी में भारत ने साल 2014 ‘एशियन गेम्स’ में गोल्ड मेडल जीता था.   

10- श्रीकांत किदांबी (बैडमिंटन) 

प्रकाश पादुकोण और पुलेला गोपीचंद के बाद वर्तमान में श्रीकांत किदांबी भारत के सबसे बेहतरीन बैडमिंटन खिलाड़ी हैं. श्रीकांत साल 2018 में दुनिया के नंबर वन बैडमिंटन खिलाड़ी भी रह चुके हैं. 

ये तो सिर्फ़ ट्रेलर है मेरे दोस्त! भारत में इनके अलावा भी कई सारे विश्व स्तरीय खिलाड़ी हैं.