30 साल पहले आज ही के दिन क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर ने अन्तराष्ट्रीय क्रिकेट में आगाज़ किया था. हालांकि, 6 साल पहले ही सचिन अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले चुके हैं, लेकिन आज भी उनकी फ़ैन फॉलोइंग पहले जैसी ही है.

Source: news18

इस दौरान सचिन ने अपने अंतर्राष्ट्रीय डेब्यू के 30 साल पूरे होने पर ट्वीट करते हुए एक वीडियो शेयर किया है. इसमें वो बैटिंग करते हुए नज़र आ रहे हैं. कैप्शन में लिखा- ये वो है जिसे करना मुझे सबसे ज़्यादा पसंद है.

24 साल के लंबे क्रिकेट करियर में सचिन ने क्रिकेट का हर बड़ा रिकॉर्ड अपने नाम किया. सबसे अधिक टेस्ट और वनडे मैच खेलने वाले खिलाड़ी. सबसे अधिक टेस्ट और वनडे शतक लगाने वाले खिलाड़ी. सबसे अधिक टेस्ट और वनडे रन बनाने वाले खिलाड़ी. सबसे अधिक 76 'मैन ऑफ़ द मैच' पाने वाले खिलाड़ी. सचिन के ये रिकॉर्ड अगले कुछ दशकों तक टूटने वाले नहीं हैं.

Source: dnaindia

अब सचिन के उस डेब्यू मैच का ज़िक्र भी कर लेते हैं-

15 नवंबर 1989 को सचिन तेंदुलकर ने 16 साल की उम्र में पाकिस्तान के ख़िलाफ़ कराची टेस्ट में डेब्यू किया था. इस दौरान सचिन ने इमरान ख़ान, वसीम अकरम, वक़ार यूनिस और अब्दुल क़ादिर जैसे ख़तरनाक गेंदबाज़ों का सामना किया था. सचिन के साथ ही वक़ार यूनिस ने भी इसी टेस्ट मैच में डेब्यू किया था.

सचिन के मुंह‍ पर बॉल लगने से निकला था ख़ून

भारत-पाकिस्तान के बीच 4 टेस्ट मैचों की सीरीज़ का पहला मैच कराची में खेला गया था. पहले ही मैच में वकार यूनिस की एक तेज़ गेंद सचिन के मुंह‍ पर जा लगी थी, इस दौरान उनके मुंह से खून भी निकला था, लेकिन उन्होंने दर्द को हंसते-हंसते सह लिया. सचिन ने अपनी पहली टेस्‍ट पारी में लोअर मिडिल ऑर्डर पर बल्लेबाज़ी करते हुए 24 गेंदों में 15 रन बनाए.

Source: sportskeeda

भारत-पाकिस्तान के बीच खेला गया ये ऐतिहासिक टेस्ट मैच ड्रॉ रहा था. इस टेस्ट मैच की पहली पारी में महज 15 रन बनाने वाले सचिन को दूसरी पारी में बल्लेबाज़ी का मौका ही नहीं मिला.

Source: twitter

आज भी अगर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में किसी भी बल्लेबाज़ को अगर 22 गज की पिच पर महान बनना है तो उसे तेंदुलकर की कसौटी पर खरा उतरना होगा. दरअसल, सचिन के रिकॉर्ड इस बात के गवाह हैं कि उन्हें तोड़ पाना अच्छे-अच्छे खिलाड़ियों की बस की बात नहीं है. यही कारण है कि सचिन को ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज़ बल्लेबाज़ सर डॉन ब्रैडमैन के समकक्ष माना जाता हैं.

Source: hindustantimes

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में 100 शतक लगाने वाले दुनिया के इकलौते खिलाड़ी

24 साल के करियर में सचिन तेंदुलकर ने 200 टेस्ट मैच खेलकर 15921 रन बनाए. इस दौरान उन्होंने 51 शतक व 68 अर्धशतक भी लगाए. जबकि 463 वनडे मैचों में उनके नाम 18426 रन हैं. इस दौरान उनके बल्ले से 49 शतक व 96 अर्धशतक निकले. सचिन ने गेंदबाज़ के तौर पर टेस्ट में 46 जबकि वनडे में 154 विकेट झटके हैं. सचिन ने भारत के लिए एकमात्र टी-20 इंटरनेशनल मैच खेला है.

Source: tilomitra

सचिन ने अपना आख़िरी अंतर्राष्ट्रीय मैच 14 नवंबर 2013 को वानखेड़े स्टेडियम में वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ खेला था.