वी. वी. एस लक्ष्मण! ये नाम सुनते ही हमारी डेढ़ दशक पुरानी यादें ताज़ा हो जाती हैं. टेस्ट में बेस्ट बनने के लिए क्लास और टेंपरामेंट की ज़रूरत होती है. लक्ष्मण आज भी इसी के लिए जाने जाते हैं. नब्बे के आख़िरी से लेकर साल 2011 के अंत तक लक्ष्मण ने भारतीय क्रिकेट फ़ैंस को जीत के तौर पर कई नायाब तोहफ़े दिए. टीम इंडिया जब-जब मुसीबत में रही लक्ष्मण ने संकटमोचक बनकर भारत को यादगार जीत दिलाई.

Source: zeenews

ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ कोलकाता में खेली गई 281 रनों की मैराथन पारी हो या फिर ऑस्ट्रेलिया के ही ख़िलाफ़ सिडनी में खेली गई 167 रनों की शानदार पारी. फ़ैंस अक्सर लक्ष्मण को उनकी इन्हीं पारियों के लिए ज़्यादा जानते हैं, लेकिन ऐसा नहीं है.

Source: news18

आज हम आपको संकटमोचक लक्ष्मण की 5 ऐसी पारियों के बारे में बताने जा रहे हैं जो भारतीय क्रिकेट इतिहास की 'ऑल टाइम फ़ेवरेट' इनिंग्स में से एक हैं-

1. ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ नाबाद 73 रन

साल 2010, मोहाली में ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ खेले गए टेस्ट मैच के दौरान पहली पारी में ऑस्ट्रेलिया के 428 रनों के जवाब में भारत ने 405 रन बनाये. पहली पारी में मिली 23 रनों की बढ़त के बाद ऑस्ट्रेलिया ने दूसरी पारी में 192 रन बनाए. इस तरह भारत को जीत के लिए 216 रनों का टारगेट मिला. लक्ष्मण पहली पारी के दौरान चोटिल हो गए थे. दूसरी पारी में भारत 76 रनों पर 5 विकेट खोकर मुसीबत में था. ऐसे में लक्ष्मण मैदान पर उतरे. भारत ने 124 के स्कोर तक सचिन, धोनी और हरभजन के विकेट भी खो दिए. अंत में लक्ष्मण ने इशांत शर्मा (31) के साथ मिलकर भारत को जीत दिला दी. भयंकर दर्द के बावजूद लक्ष्मण ने नाबाद 73 रनों की पारी खेली.

Source: zeenews

2. दक्षिण अफ़्रीका के ख़िलाफ़ 96 रन

साल 2010, भारतीय टीम दक्षिण अफ़्रीका दौरे पर थी. डरबन की तेज़ और उछाल भरी विकेट पर भारत पहली पारी में 205 रन पर ऑल आउट. लक्ष्मण 38 रन के साथ टॉप स्कोरर रहे. भारत ने भी दक्षिण अफ़्रीका को 131 पर ऑल आउट कर दिया. दूसरी पारी में 56 रन पर 4 विकेट खो चुका था. इसके बाद एक छोर पर टिके लक्ष्मण ने आख़िर के तीन पुछल्ले बल्लेबाज़ों के साथ मिलकर 80 रन जोड़ कर भारत का स्कोर 228 रन कर दिया. दक्षिण अफ़्रीका को जीत के लिए 303 रन बनाने थे, लेकिन भारत 87 रन भारत ये मैच जीच गया.

Source: news18

3. ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ नाबाद 79 रन

साल 2008, ऑस्ट्रेलियाई दौरे पर गई भारतीय टीम ने सिडनी टेस्ट गंवाने के बाद पर्थ में खेले गए अगले टेस्ट मैच की पहली पारी में 118 रन की बढ़त बनाई. दूसरी पारी में भारत 125 रन 5 विकेट गंवा चुका था. नंबर 6 पर बल्लेबाज़ी करने आए लक्ष्मण ने पहले सचिन फिर धोनी के साथ पार्टनरशिप्स कर टीम को 8 विकेट पर 235 तक पहुंचा दिया. लक्ष्मण ने आख़िर में आरपी सिंह व ईशांत शर्मा के साथ मिलकर महत्वपूर्ण 59 रन बनाए. भारत ये मैच 72 रनों से जीता था.

Source: news18

4. दक्षिण अफ़्रीका के ख़िलाफ़ 73 रन

साल 2006, भारतीय टीम दक्षिण अफ़्रीका के दौरे पर थी. जोहांसबर्ग में खेले गए पहले टेस्ट की पहली पारी में भारत ने 249 रन बनाए. जवाब में भारतीय गेंदबाज़ों ने शानदार गेंदबाज़ी करते हुए अफ़्रीकी टीम को 84 रन पर ऑल आउट कर दिया. भारत को पहली पारी में 165 रन की बढ़त बना मिली. दूसरी पारी में भारत 41 रन पर 3 विकेट खो चुका था. लक्ष्मण एक छोर पर टिके हुए थे, लेकिन दूसरे छोर से लगातार विकेट गिरते रहे. 8वें विकेट के लिए लक्ष्मण ने ज़हीर खान के साथ 70 रनों की पार्टनरशिप कर भारत को 236 के स्कोर तक पहुंचाया. भारत ये टेस्ट मैच 123 रनों से जीता था.

Source: chennaionline

5. दक्षिण अफ़्रीका के ख़िलाफ़ 51 रन

साल 1996, दक्षिण अफ़्रीकी टीम भारत दौरे पर थी. लक्ष्मण ने अपने डेब्यू टेस्ट में लक्ष्मण ने दिखा दिया था कि वो क्या चीज़ हैं. दोनों टीमों की पहली पारी ख़त्म होने के बाद दक्षिण अफ़्रीका को 21 रनों की बढ़त मिली. भारत दूसरी पारी में 38 रन पर 3 विकेट खो चुका था. फिर लक्ष्मण आए और 125 गेंदों पर 51 रनों की पारी खेलकर भारत को 190 के स्कोर तक पहुंचाया. जीत के लिए 170 रन का पीछा करते हुए अफ़्रीकी टीम 105 रन पर ऑल आउट हो गयी.

Source: news18

लक्ष्मण ने 17 टेस्ट सेंचुरी में से 6 ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ लगायी हैं, जबकि 6 वनडे शतकों में से 4 भी ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ ही लगायी हैं.