टीम इंडिया ने कई बड़े मौकों पर जीत हासिल कर भारतीय क्रिकेट फ़ैंस को कई शानदार तौहफ़े दिए हैं. साल 1983 वर्ल्ड कप की जीत आज भी हर क्रिकेट फ़ैंस की सबसे सुनहरी यादों में से एक है. चाहे वो 2011 वर्ल्ड कप की जीत या फिर 2007 टी-20 वर्ल्ड कप की जीत. भारतीय टीम ने हर मौके पर फ़ैंस को यादगार तोहफ़े दिए हैं.

आज हम फ़ैंस को भारतीय क्रिकेट इतिहास के 6 ऐसे मैचों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनकी हार आज भी फ़ैंस को निराश कर देती है-

1- भारत बनाम श्रीलंका (1996 वर्ल्ड कप, सेमीफ़ाइनल)

साल 1996, कोलकाता के ईडन गार्डन में भारत और श्रीलंका के बीच वर्ल्ड कप सेमीफ़ाइनल खेला जा रहा था. भारतीय टीम 1996 वर्ल्ड कप की प्रमुख दावेदार मानी जा रही थी. श्रीलंका ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए 251 रन बनाए, जवाब में भारतीय ताश के पन्नों की तरह बिखर गई. टीम इंडिया 120 रनों पर 8 विकेट गंवा चुकी थी, फिर फ़ैंस ने हंगामा शुरू कर दिया और अम्पायरों ने मैच रोककर श्रीलंका को जीत दे दी.

Source: cricketnmore

2- भारत बनाम श्रीलंका (2000 कोका कोला चैंपियंस ट्रॉफ़ी, फ़ाइनल)

साल 2000, शारजाह में खेले गए 'कोका कोला चैंपियंस ट्रॉफ़ी' के फ़ाइनल में श्रीलंका ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए 299 रन बनाए. जवाब में भारतीय टीम केवल 54 रन ही बना सकी. वनडे क्रिकेट में ये भारत का न्यूनतम स्कोर है. टीम में सचिन, सौरभ और युवराज जैसे दिग्गज़ बल्लेबाज़ थे. बावजूद इसके 10 भारतीय बल्लेबाज़ दहाई का अंक भी नहीं छू पाए. रोबिन सिंह ने सर्वाधिक 11 बनाये.

Source: sportskeeda

3- भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया (2003 वर्ल्ड कप, फ़ाइनल)

साल 2003 वर्ल्ड कप फ़ाइनल में ऑस्ट्रेलिया के हाथों मिली करारी हार भारतीय टीम की सबसे निराशाजनक हार में से एक थी. सौरव गांगुली की कप्तानी में भारतीय टीम 1983 के बाद पहली बार फ़ाइनल में पहुंची थी. 20 साल बाद भारतीय क्रिकेट फ़ैंस वर्ल्ड कप की आस लगाए बैठे थे, लेकिन टीम इंडिया जीत हासिल नहीं कर सकी.

Source: quora

4- भारत बनाम बांग्लादेश (2007 वर्ल्ड कप, लीग मैच)

साल 2007 वर्ल्ड कप की हार भारतीय क्रिकेट इतिहास की सबसे करारी हार में से एक थी. सचिन, सौरव, द्रविड़, धोनी और कुंबले सरीखे स्टार खिलाड़ियों के बावजूद लीग मुक़ाबले से ही वर्ल्ड कप से बाहर हो गई थी. बंगलादेश ने बड़ा उलटफ़ेर करते हुए भारतीय टीम को वर्ल्ड कप से बाहर का रास्ता दिखाया था.

Source: quora

5- भारत बनाम पाकिस्तान (2017, चैंपियंस ट्रॉफ़ी फ़ाइनल)

साल 2017 ICC चैंपियंस ट्रॉफ़ी के फ़ाइनल को भारतीय क्रिकेट फ़ैंस भला कैसे भूल सकते हैं. बुमराह की वो नो बॉल जिसकी वजह से भारत लगातार दूसरी बार चैंपियन बनने से रह गया था. इससे बड़ी निराशा की बात ये थी कि टीम इंडिया फ़ाइनल में पाकिस्तान से हारा था.

Source: quora

6- भारत बनाम न्यूज़ीलैंड (2019 वर्ल्ड कप, सेमीफ़ाइनल)

इस मैच को फ़ैंस भला कैसे भूल सकते हैं इसकी कड़वी यादें अब भी हमारे दिलों में ताज़ा है. इसी साल 9 जुलाई को इंग्लैंड के मैनचेस्टर में खेले गए इस महा मुक़ाबले में टीम इंडिया को करारी शिकस्त मिली थी. न्यूज़ीलैंड 239 रनों के जवाब में भारतीय टीम 221 रनों पर सिमट गयी थी.

Source: foxsports

इनके अलावा वो कौन-कौन से मैच हैं जिनकी हार आज भी आपकी सबसे कड़वी यादों में से एक है?